असम विधानसभा चुनाव के लेकर हर राजनीतिक दल तबाड़तोड़ रैलियां करने में व्यस्त हैं। जनता को लुभाने के लिए कई तरह हैं वादें कर रहे हैं। और साथ ही विपक्ष को कमियां गिनाकर आरोप प्रत्यारोप की सिलसिला चल रहा है। असम में सबसे ज्यादा हॉट सीट जो हैं वो है गुवाहाटी सीट। इस सीट पर प्रमुख राजनीतिक दल बीजेपी और कांग्रेस के बीच जबरदस्त मुकाबला हो रहा है।


दूसरी ओर असम की धुबरी सीट पर BJP और AIUDF के बीच करीबी मुकाबला होने की संभावना जताई जा रही है। धुबरी निर्वाचन क्षेत्र के लिए भाजपा उम्मीदवार देबामॉय सान्याल ने अपना नामांकन पत्र दाखिल किया है। हालांकि, उन्होंने 2011 और 2016 में धुबरी निर्वाचन क्षेत्र से भाजपा के टिकट पर राज्य विधानसभा चुनाव लड़ा था, वह हार गए थे। इस बार फिर से 2021 के विस चुनाव में बीजेपी ने देबामॉय को इसी सीट से टिकट दे दिया है।

 2016 के असम विधानसभा चुनावों में AIUDF के उम्मीदवार नजरुल होउके को 60933 वोट मिले और उन्होंने स्वतंत्र उम्मीदवार नाजिमुल उमर को हराकर सीट हासिल की, जिसे 364747 वोट मिले थे। इस सीट पर मतदान तीसरे चरण में 6 अप्रैल को होगा और मतगणना 2 मई को होगी। असम विधानसभा चुनाव के तीसरे चरण के लिए नामांकन भरने का 19 मार्च आखिरी दिन है।

कागजातों की जांच 20 मार्च को होगी और नामांकन पत्र वापस लेने की आखिरी तारीख 22 मार्च है। भाजपा धुबरी जिले की चार सीटों अर्थात्, धुबरी, गोलाकगंज, बिलासिपारा पूर्व और बिलासीपारा पश्चिम निर्वाचन क्षेत्रों में चुनाव लड़ रही है। गौरीपुर सीट पर उसके गठबंधन सहयोगी यूपीपीएल का मुकाबला होने की संभावना है। सत्तारूढ़ भाजपा राज्य सरकार के पास दो विधानसभाएँ गोलकगंज और बिलासीपारा पूर्व निर्वाचन क्षेत्र हैं। AIUDF के धुबरी, गौरीपुर और बिलासीपारा पश्चिम निर्वाचन क्षेत्रों में तीन विधायक हैं।