सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) (BJP) और उसकी सहयोगी यूनाइटेड पीपुल्स पार्टी लिबरल (यूपीपीएल) असम की सभी पांच विधानसभा सीटों (Assam assembly by election) पर आगे चल रही है। चुनाव अधिकारियों ने मंगलवार को यह जानकारी दी।

अधिकारियों ने कहा कि भाजपा के फणीधर तालुकदार, सुशांत बोरगोहेन और रूपज्योति कुर्मी क्रमश: भवानीपुर, थौरा और मरियानी विधानसभा सीटों पर कांग्रेस और निर्दलीय प्रतिद्वंद्वियों के खिलाफ आगे चल रहे हैं। पांच निर्वाचन क्षेत्रों में 30 अक्टूबर को हुए उपचुनाव (Assam assembly by-election) में वोटों की गिनती जारी थी। बोडोलैंड पीपुल्स फ्रंट (BPF) और निर्दलीय उम्मीदवारों के खिलाफ भाजपा के सहयोगी यूपीपीएल (UPPL) उम्मीदवार जिरोन बसुमतारी और जोलेन डेमरी क्रमश: गोसाईगांव और तामुलपुर सीटों पर आगे चल रहे हैं।

मार्च-अप्रैल के आम चुनावों में तालुकदार ने ऑल इंडिया यूनाइटेड डेमोक्रेटिक फ्रंट (एआईयूडीएफ) (AIUDF) के टिकट पर भवानीपुर सीट जीती, जबकि बोरगोहेन को थौरा सीट से और कुर्मी को मरियानी निर्वाचन क्षेत्र से कांग्रेस के टिकट पर चुना गया। लेकिन वे अपनी पार्टियों और विधानसभा सदस्यता छोडऩे के बाद भाजपा में शामिल हो गए। उपचुनाव में करीब 8 लाख पात्र मतदाताओं में से 73.77 प्रतिशत ने 31 उम्मीदवारों के चुनावी भाग्य का फैसला करने के लिए वोट डाला। यूनाइटेड पीपुल्स पार्टी लिबरल और बोडोलैंड पीपुल्स फ्रंट (BPF) के दो मौजूदा विधायकों की कोविड से संबंधित मौतों के कारण चुनाव आवश्यक था, जबकि कांग्रेस और एआईयूडीएफ के दो विधायक अपनी विधानसभा सदस्यता छोडऩे के बाद भाजपा में शामिल हो गए।