असम (Assam) में कई संगठनों ने 2 साल पहले संशोधित नागरिकता

कानून (CAA) के विरोध में हुए आंदोलन के दौरान जान गंवाने वाले पांच

प्रदर्शनकारियों को श्रद्धांजलि दी। इसके साथ ही  उन्होंने CAA के खिलाफ

आंदोलन फिर से शुरू करने का संकल्प लिया।

मारे

गए प्रदर्शनकारियों में शामिल सैम स्टैफोर्ड के आवास और गुवाहाटी में एक

खेल के मैदान पर श्रद्धांजलि बैठकें आयोजित की गईं। इनमें उपस्थित लोगों ने

सीएए के खिलाफ आंदोलन को एक बार फिर तेज करने का संकल्प लिया।संसद

में विधेयक पारित होने के बाद सीएए के खिलाफ सबसे पहले विरोध-प्रदर्शन

आयोजित करने वाले समूहों में से एक कृषक मुक्ति संग्राम समिति (केएमएसएस)

ने मारे गए आंदोलनकारियों को स्टैफोर्ड के हाटीगांव स्थित आवास पर

श्रद्धांजलि दी।सीएए के खिलाफ आंदोलन में

अहम भूमिका निभाने वाले विधायक अखिल गोगोई ने मृतक की तस्वीरों पर

पुष्पांजलि अर्पित करते हुए कहा कि राजनीतिक दलों और ''राष्ट्रवादी

संगठनों'' को आंदोलन को फिर से शुरू करने का बीड़ा उठाना चाहिए।आंदोलन में शामिल रहे ऑल असम स्टूडेंट्स यूनियन ने हाटीगांव उच्चतर माध्यमिक स्कूल के मैदान में एक श्रद्धांजलि सभा का आयोजन किया।