असम के साथ कई राज्यों का सीमा विवाद चल रहा है। इस विवाद में सबसे बड़ा विवाद है मिजोरम का जिसमें की मासूमों की जान गई हैं। इसी तरह से मेघालय के साथ भी असम  सीमा विवाद है। लेकिन समझदारी से काम लेते हुए दोनों राज्यों मुख्यमंत्रियों शांति से विवाद को सुलझाने का फैसला लिया हैं।
इस कड़ी में असम के मुख्यमंत्री हिमंता बिस्वा सरमा (CM Himanta Biswa Sarma) और उनके मेघालय समकक्ष कोनराड के. संगमा (CM Conrad K. Sangma) ने 15 जनवरी से पहले दो पूर्वोत्तर राज्यों के बीच 12 अंतर-राज्य सीमा विवादों में से छह को हल करने का फैसला किया है।



यह फैसला गुवाहाटी में असम और मेघालय के मुख्यमंत्रियों के बीच हुई बैठक में लिया गया है।

मेघालय के उपमुख्यमंत्री प्रेस्टोन तिनसोंग (Prestone Tynsong) ने कहा कि " बैठक में निर्णय लिया गया है कि दोनों राज्यों द्वारा गठित क्षेत्रीय समितियां 31 दिसंबर तक संबंधित मुख्यमंत्रियों को अपनी रिपोर्ट सौंप देंगी और फिर बैठक होगी, 15 जनवरी तक हमें छह स्थानों पर विवादों के समाधान की उम्मीद है।"
असम के कृषि और सीमा क्षेत्र विकास मंत्री अतुल बोरा (Atul Bora) के साथ मेघालय के डिप्टी सीएम ने कहा कि पहले चरण में छह विवादित स्थानों का परस्पर अध्ययन किया जा रहा है और इन छह स्थानों में अंतर-राज्यीय विवादों को हल करने के बाद, शेष छह स्थानों के विवाद होंगे।


बैठक के बाद, असम के सीएम हिमंता बिस्वा सरमा (CM Himanta Biswa) ने ट्वीट किया कि  “हम अपने पड़ोसियों के साथ सीमा मुद्दों को सुलझाने के लिए लगातार प्रयास कर रहे हैं। हमारे प्रयास के तहत, मेरे मेघालय समकक्ष श्री कॉनराड के. संगमा (CM Conrad K. Sangma) के साथ डिप्टी सीएम मेघालय श्री प्रेस्टन तिनसोंग और दोनों राज्यों के कई मंत्रियों और वरिष्ठ अधिकारियों के साथ बैठक की ”।