असम में नवगठित आतंकी गुट नेशनल लिब्रेशन फ्रंट ऑफ बोड़ोलैंड (एनएलएफबी) के 44 आतंकियों ने पिछले दो दिनों में भारी मात्रा में असलहों के साथ आत्मसमर्पण किया है।

असम पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी के मुताबिक 32 आतंकियों ने रविवार को और 14 ने शनिवार को आत्मसमर्पण किया था। एक महीने के भीतर इस संगठन का यह बड़ा आत्मसमर्पण है।

संगठन के प्रमुख एम बाथा ने अपने 22 सहयोगियों के साथ उदालगुड़ी के लालपानी में 22 जुलाई को आत्मसमर्पण किया था। अब तक इस संगठन के 69 आतंकी हथियार डाल चुके हैं।

मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा ने 12 जुलाई को विधानसभा को बताया था कि 2016 में भाजपा की सरकार बनने के बाद से राज्य में विभिन्न आतंकी गुटों के 3,439 आतंकियों ने आत्मसमर्पण किया है।