असम के गुवाहाटी में एक क्वारंटीन केंद्र से कोरोना वायरस (कोविड-19) के तीन संक्रमित भाग गये हालांकि बाद में पुलिस ने उन्हें पकड़कर अस्पतालों में भर्ती करा दिया। क्वारंटीन केंद्र से कोरोना वायरस के मरीजों के भागने के बाद यहां के लोगों और प्रशासन में अफरा-तफरा मच गई थी। भागने वाले रोगियों में दो नलबाड़ी जिले और एक होजाई जिले का रहने वाला है। 

स्वास्थ्य मंत्री हिमंता बस्वा शर्मा ने घटना की जानकारी देते हुये कहा, कोविड-19 के तीन मरीज- नलबाड़ी के हिमादुल अहमद, शाजहल अली और होजाई के मोहम्मद सैदुल आलम- सारुसाजई के क्वारंटीन केंद्र से भाग गये थे, जिससे हमारी परेशानी बढ़ गई थी। शर्मा ने कोरोना संक्रमितों को समय पर पकड़ने के लिए नलबाड़ी और होजाई पुलिस को धन्यवाद देते हुये कहा, ‘‘इस तरह के कृत्यों के लिए दंडात्मक उपाय करने होंगे।’’ नलबाड़ी के दोनों मरीजों को वहां के सिविल अस्पताल में जबकि होजाई के रोगी को यहां के एमएमसी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। 

गौरतलब है कि असम में एक दिन में अब तक सबसे ज्यादा 42 नए मामले सामने आने के बाद बाद राज्य में कुल संक्रमित लोगों की संख्या बढ़कर 157 हो गई। संक्रमित मिले व्यक्तियों में दो महीने की एक बच्ची भी शामिल है। राज्य के स्वास्थ्य मंत्री हिमंत विश्व सरमा ने कहा कि 42 नए मामलों में से कम से कम 37 राज्य के विभिन्न पृथक केंद्रों में रह रहे थे। उन्होंने बताया कि इन सभी मरीजों में सबसे कम उम्र की होजाई की दो महीने की बच्ची है जो मुंबई से यहां आई है। सरमा ने बताया कि राज्य में कुल संक्रमित लोगों की संख्या 157 हो गई है जबकि इनमें से 110 का उपचार चल रहा है। उन्होंने बताया कि राज्य में कोरोना वायरस से अब तक चार लोगों की मौत हो चुकी है और 41 संक्रमण मुक्त हो चुके हैं। वहीं दो मरीज राज्य से बाहर चले गए हैं।