भारतीय सेना पूर्वोत्तर के गुमनाम नायकों की वीरता को याद करने और उन्हें सम्मानित करने के लिए 20 और 21 नवंबर को यहां पूर्वोत्तर स्वाभिमान उत्सव का आयोजन करने जा रही है। इसकी जानकारी सेना के वरिष्ठ अधिकारी ने दी।

हिमंता बिस्वा सरमा ने कहाः मोदी को जिताओ, वर्ना हर शहर में आफताब होगा


इस विशेष कार्यक्रम के जरिए राष्ट्र निर्माण में भारत के पूर्वोत्तर क्षेत्र के वीरों के योगदान को याद किया जाएगा। यह कार्यक्रम भारतीय सेना, मुख्यालय पूर्वी कमान के तत्वावधान में पूर्वोत्तर के राज्यों पूर्वोत्तर क्षेत्रीय सांस्कृतिक परिषद (एनईजेडसीसी) के सहयोग से किया जा रहा है। यह कार्यक्रम आजादी के अमृतमहोत्सव समारोह कड़ी का हिस्सा है। कार्यक्रम में असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्व सरमा सहित पूर्वोत्तर के कई राज्यों के अलावा पूर्वी कमान के प्रमुख लेफ्टिनेंट जनरल आरपी कलिता भी रहेंगे।

पुलिस द्वारा समय पर की गई कार्रवाई से ई-धोखाधड़ी पीड़ित को 20 लाख रुपये वापस मिले


अधिकारी के मुताबिक दो दिवसीय इस कार्यक्रम में गुमनाम नायकों की भूमिका, भारतीय सशस्त्र बलों और सरकार के अन्य महत्वपूर्ण अंगों जैसे उत्तर पूर्वी परिषद (एनईसी), सीमा सड़क संगठन (बीआरओ), असम राइफल्स और पूर्वोत्तर सीमांत रेलवे के बारे में जागरुकता फैलाना है।