असम के लोकप्रिय कामाख्या मंदिर के प्रबंधन ने कोरोना वायरस के खतरे को देखते हुए एक बड़ा फैसला लिया है। कामाख्या मंदिर प्रबंधन का कहना है कि कोरोना वायरस की दूसरी लहर को देखते हुए इस साल भी अंबुबाची मेला का आयोजन नहीं किया जाएगा। ये मेला 22-26 जून को होना था लेकिन कोरोना के खतरे को देखते हुए मंदिर प्रबंधन ने मेला का आयोजन ना कराने का फैसला किया है।

कामाख्या मंदिर प्रबंधन का कहना है कि कोरोना की दूसरी की पीक भले ही जा चुकी हो लेकिन कोरोना का खतरा अभी भी बना हुआ है। 

मंदिर प्रशासन की ओर से जानकारी दी गई कि अंबुबाची मेले के दौरान पूजा-पाठ जरूर किया जाएगा 30 जून तक देवालय कॉम्प्लेक्स में किसी भी श्रद्धालू को आने की अनुमति नहीं है।