असम में कोरोना वायरस काफी प्रभावित हैं इसके लिए सरकार कई तरह से सुरक्षा कर रही है। यहां कोरोना के मामले 42 हैं और एक की मौत हो चुकी है। कोरोना के इस अटैक के बाद एक वायरस ने अमस में दस्तक दी है। जांच से ज्ञात हुआ है कि राज्य में अफ्रीकी स्वाइन फ्लू का पहला मामला पाया गया है जो कि 306 गांवों में फैला है।


इस फ्लू के कारण से 2,500 से ज्यादा सूअर मारे जा चुके हैं। असम के पशुपालन और पशु चिकित्सा मंत्री अतुल बोरा ने कहा कि राज्य सरकार केंद्र से मंजूरी होने के बाद भी तुरंत सूअरों को मारने की इजाज्त नहीं मांगेगी बल्कि इस घातक संक्रामक बीमारी को फैलने से रोकने के लिए कोई जांच कर उस पर अमल करेगी।


बोरा ने जानकारी देते हुए बताया कि राष्ट्रीय उच्च सुरक्षा पशु रोग संस्थान (एनआईएचएसएडी) भोपाल ने पुष्टि की है कि यह अफ्रीकी स्वाइन फ्लू (एएसएफ) है। देश में इस बीमारी का पहला मामला असम में देखा गया है। जिससे 2,500 सुअरों की मौत हो चुकी है। और इसका सिलसिला जारी हैं। खास बात तो ये है कि इस बीमारी का COVID-19 से कोई लेना-देना नहीं है। तो इस पर सियासत ना की जाए तो अच्छा होगा।