असम के ऑल असम स्टूडेंट्स यूनियन (AASU) की डिब्रूगढ़ जिला इकाई ने डिब्रूगढ़ में निजी नर्सिंग होम और नैदानिक ​​प्रयोगशालाओं के एक वर्ग की 'अनैतिक' प्रथाओं के विरोध में डिब्रूगढ़ में संयुक्त स्वास्थ्य सेवा निदेशालय के कार्यालय का घेराव किया है। AASU सदस्यों ने निजी नर्सिंग होम और नैदानिक ​​प्रयोगशालाओं को नियमित करने की मांग को लेकर चौकीडिंगी से एक घंटे तक जुलूस निकाला है।


AASU डिब्रूगढ़ जिला अध्यक्ष अबनी कुमार गोगोई ने आरोप लगायाने कहा कि ''स्वास्थ्य विभाग निजी नर्सिंग होम और प्रयोगशालाओं की अनैतिक प्रथा को नियंत्रित करने में बुरी तरह विफल रहा है। जनता को लूट कर पैसा कमा रहे हैं ''। इसके बावजूद डिब्रूगढ़ की स्वास्थ्य सेवा उनके खिलाफ कुछ नहीं कर रही है। यह एक तरह से अनैतिक है।


अधिकांश प्रयोगशालाओं के पास उचित दस्तावेज भी नहीं हैं। गोगोई ने आरोप लगाया कि उन प्रयोगशालाओं में काम करने वाले तकनीशियनों के पास उचित डिग्री या प्रमाणपत्र नहीं है। गोगोई ने कहा कि "अगर 20 दिनों के भीतर, स्वास्थ्य विभाग इन नर्सिंग होम और डायग्नोस्टिक लैब के खिलाफ कदम उठाने में विफल रहता है, तो हम ऐसी प्रयोगशालाओं और निजी नर्सिंग होम को ताला और चाबी के नीचे रखेंगे।"