बहादुरगंज प्रखंड क्षेत्र अंतर्गत प्रेमनगर रेड लाइट एरिया में असम से आई पुलिस टीम के साथ मिलकर बहादुरगंज पुलिस ने छापेमारी कर एक अपहृता विवाहिता और एक बच्ची को बरामद किया। कुछ दिनों पूर्व असम के रामेसुबारी गांव की एक विवाहित महिला के पति ने अपनी पत्नी एवं दस वर्षीय बच्ची की अपहरण होने का रिपोर्ट जमालपुर असम थाने में दर्ज कराया था। मामला दर्ज कर जमालपुर पुलिस अपहरण हुए महिला एवं बच्ची की तलाश में जुट गई थी।

असम पुलिस को सूचना मिली कि अपहृत महिला एवं बच्ची को किशनगंज जिले के बहादुरगंज थाना क्षेत्र अंतर्गत प्रेम नगर रेड लाइट एरिया में रखकर जबरन देहव्यापार करवाया जा रहा है। सूचना मिलते ही गुरुवार की रात असम से आई पुलिस टीम एवं बहादुरगंज थानाध्यक्ष की पुलिस ने छापेमारी कर अपहृता विवाहिता एवं बच्ची को बरामद किया। बरामद अपहृता और बच्ची को असम के जमालपुर पुलिस अपने साथ लेकर गई। बहादुरगंज थानाध्यक्ष संजय कुमार ने बताया कि बरामद महिला के अनुसार उसे प्रेम प्रसंग में बहला फुसलाकर असम से दो माह पूर्व बहादुरगंज लाकर उसे प्रेमनगर रेड लाइट एरिया में बेच दिया गया था जिसके उपरांत अपहृता से जबरन देह व्यापार करवाने का कार्य किया जा रहा था। पीडि़ता के बयान के अनुसार आगे की कार्रवाई की जा रही है।

इस तरह के लगातार मामले सामने आ रहे हैं। प्यार में फंसा कर महिलाओं और युवतियों को रेडलाइट एरिया तक पहुंचा दिया जाता है। इसके बाद उससे जबरन देहव्यापार कराया जाता है। हाल ही में रेडलाइट एरिया में एक युवती की मौत के बाद इस तरह के मामले का खुलासा हुआ था। पहले भी इस तरह के मामले सामने आ चुके हैं। हालांकि पुलिस की सख्ती के बाद देहव्यापार से जुडे लोगों में हड़कंप है।