असम के सिलचर में राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान (एनआईटी) के नौ छात्रों पर परिसर में एक जूनियर के साथ कथित तौर पर मारपीट करने का मामला दर्ज किया गया है। स्थानीय पुलिस अधिकारी वीर सिंह ने कहा कि हमने मामला दर्ज किया है और एनआईटी अधिकारियों के साथ चर्चा की, जिन्होंने हमारी जांच में सहयोग का आश्वासन दिया है। 

ये भी पढ़ेंः कथित रूप से उल्फा-आई में शामिल हुआ आसू नेता म्यांमार कैंप में मारा गया


बता दें कि करीमगंज के रहने वाले जूनियर ने अपने सीनियर्स पर 28 अप्रैल की आधी रात को मारपीट करने का आरोप लगाया। उन्होंने धमकी दी कि अगर मैंने हमले के बारे में खुलासा किया तो वे मेरा करियर बर्बाद कर देंगे। मैं शुरू में डर गया था और एनआईटी के  कार्रवाई करने का इंतजार भी कर रहा था, लेकिन एक हफ्ते के बाद मैंने पुलिस में शिकायत दर्ज करने का फैसला किया क्योंकि अगर मैं नहीं बोलूंगा, तो यह अपराधियों को प्रोत्साहित करेगा।

ये भी पढ़ेंः असम राइफल्स भर्ती 2022: 1300 से अधिक रिक्तियों के लिए आवेदन आमंत्रित, जानिए कैसे करें ऑनलाइन आवेदन


उन्होंने कहा कि उन्हें धमकी भरे फोन आ रहे हैं और मामले को सुलझाने की पेशकश की जा रही है। कुछ लोग मुझे धमकाने की कोशिश कर रहे हैं तो कुछ मामले को निपटाने के लिए लाखों की पेशकश कर रहे हैं। संस्थान के रजिस्ट्रार के एल वैष्णव ने कहा कि दो छात्र समूहों के बीच झड़प हुई थी और जूनियर ने बिना बताए पुलिस के पास जाकर परिसर के नियमों का उल्लंघन किया। उन्होंने कहा कि शिकायत कुछ वकीलों के प्रभाव में दर्ज की गई थी।