जम्मू-कश्मीर के श्रीनगर में नौकरी दिलाने के झूठे वादे के साथ तस्करी कर लाए गए एक नाबालिग लड़की सहित कुल आठ लोगों को कोकराझार वापस लाया गया है। कोकराझार के पुलिस अधीक्षक (एसपी) प्रतीक थुबे ने संवाददाताओं को बताया कि कोकराझार के दूरदराज के गांवों की दो लड़कियों समेत आठ युवकों को अप्रैल में नौकरी दिलाने का झांसा देकर श्रीनगर ले जाया गया।


एसपी थुबे ने कहा कि उन्होंने बाद में अपने परिवार के सदस्यों को फोन किया जिसके बाद पुलिस में शिकायत दर्ज कराई गई। तस्करी पीड़ितों को जम्मू-कश्मीर से बचाया गया 1 चिरांग जिले के रूनीखाता पुलिस थाने के तहत दादगिरी के दो आरोपियों-पति और पत्नी की पहचान प्रभात किशन ठाकुर और हैलू उर्फ शांति उर्फ रीना बसुमतारी के रूप में हुई है, जिन्हें तस्करी में शामिल होने के आरोप में गिरफ्तार किया गया था।