पश्चिमी असम के कोकराझार जिले में सुरक्षा बलों के साथ तड़के 'मुठभेड़' में नवगठित बोडो विद्रोही समूह यूनाइटेड लिबरेशन ऑफ बोडोलैंड (यूएलबी) के दो आतंकवादी मारे गए। एक पुलिस अधिकारी ने कहा कि "तड़के कोकराझार जिले में कथित रूप से गोलीबारी करने के बाद दो संदिग्ध बोडो उग्रवादियों को पुलिस ने मुठभेड़ में मार गिराया।"


जंगल, पुलिस और सेना की एक टीम ने कोकराझार के लुंगसुंग जंगल में एक संयुक्त अभियान शुरू किया। इन्होंने कहा कि  “जब टीम ने जंगल में सशस्त्र आतंकवादियों से संपर्क किया, तो उन्होंने सुरक्षा बलों को निशाना बनाते हुए गोलियां चला दीं। पुलिस ने जवाबी कार्रवाई की और बाद में हमने पाया कि दो व्यक्ति घायल अवस्था में जमीन पर पड़े थे। उन्हें कोकराझार के आरएनबी अस्पताल ले जाया गया, जहां उन्हें मृत घोषित कर दिया गया "।

वे कथित तौर पर कोकराझार जिले के बिस्मुरी इलाके में रंगदारी वसूली में शामिल थे। नवगठित बोडो संगठन नेशनल डेमोक्रेटिक फ्रंट ऑफ बोडोलैंड (एनडीएफबी) के मुख्यधारा में लौटने के कुछ दिनों बाद, अलग बोडोलैंड राज्य की मांगों के साथ बोडो बेल्ट में एक और विद्रोही समूह का गठन किया गया है। मीडिया को जारी एक वीडियो बयान में, नए संगठन यूएलबी के नेताओं ने कहा कि अगर उनकी मांगें नहीं मानी गईं तो वे अक्टूबर से असम में विस्फोट करेंगे।