कोरोना लॉकडाउन में सारी दुनिया में मंदी आ गई है। लेकिन कई लोगों को इसका खास फायदा हुआ है। लोगों को पास पैसा ही नहीं लेकिन लोगों ने कोरोना का फायदा उठाकर अपनी जेबें भरी हैं। इसी चीज़ का खुलासा पुलिस ने किया है। जो कि असम के भोर में छापेमारी कर एक भारतीय रेलवे कर्मचारी को गिरफ्तार किया और असम के निचले इलाके बारपेटा जिले में उसके आवास से 2 करोड़ रुपये से अधिक की बेहिसाब नकदी बरामद की।

गिरफ्तार रेलवे कर्मचारियों की पहचान देबराज दास के रूप में हुई है। बरपेटा पुलिस ने दास को बारपेटा शहर के गांधी नगर में उनके आवास पर छापे के दौरान गिरफ्तार किया है।
पुलिस ने कहा कि मुखबीरों से मिली सूचना पर कार्रवाई करते हुए बारपेटा डीएसपी मदन च कालिता के नेतृत्व में पुलिस की एक टीम ने छापेमारी के दौरान उनके घर पर छापा मारा और नकदी बरामद की।

जानकारी के लिए बता दें कि रेलवे कर्मचारी दास बोंगाईगाँव में तैनात हैं। इसी के साथ पुलिस ने असम पुलिस SI भर्ती घोटाले में बोंगाईगाँव जिले से एक और आरोपी व्यक्ति को गिरफ्तार किया। बोंगईगांव पुलिस के साथ क्राइम ब्रांच की एक टीम ने रूपम दास को बोंगाईगाँव जिले के अभयपुरी स्थित उनके कानून के आवास से गिरफ्तार किया था। पुलिस ने कहा कि रूपम के साथ एक और आरोपी रुबुल हजारिका शामिल हैं।