असम के बिस्वनाथ जिले में 17 बांग्लादेशी नागरिकों को गिरफ्तार किया गया है। इन पर टूरिस्ट वीजा नियमों के उल्लंघन करने का आरोप था। ये नागरिक यहां धर्म का प्रचार करने में जुटे थे। असम आने से पहले ये सभी बांग्लादेशी राजस्थान के अजमेर शरीफ और पश्चिम बंगाल का कूच बिहार जिला घूमकर आए थे। इन सभी आरोपियों का नेतृत्व सैय्यद अशरफुल आलम कर रहा था।

ये भी पढ़ेंः गुवाहाटी HC ने TN सरकार से असम टीम को हाथी जॉयमाला का निरीक्षण करने की अनुमति देने को कहा


पुलिस ने कहा कि पिछले महीने भी इन लोगों को टूरिस्ट वीजा देते समय किसी भी तरह के धर्म का प्रचार न करने की चेतावनी दी गई थी, लेकिन ये माने नहीं। बिस्वनाथ जिले के एसपी नवीन सिंह ने कहा कि इन बांग्लादेशी लोगों के बाघमरी आने पर हमें अचंभा हुआ, क्योंकि, यहां कोई पर्यटन स्थल नहीं है। हम भी जानना चाहते थे कि ये लोग यहां क्यों हैं। हमें पता चला कि इनका संबंध किसी खास संगठन से है।

ये भी पढ़ेंः भारी बारिश से बेहाल हुए असम को गृहमंत्री अमित शाह ने दी बड़ी राहत, जारी किए इतने करोड़ रुपए


एसपी ने कहा कि हमने ये भी सत्यापित किया कि इन्हें धर्मोपदेश देने में किन लोगों ने साथ दिया। ये सभी आरोपी अलग-अलग समूह बनाकर अलग-अलग जगहों से असम आए। उन्होंने कहा कि ये लोग 24 अगस्त से अलग-अलग समूह बनाकर भारत आ रहे थे। दूसरी ओर, इनके नेता सैय्यद अशरफुल आलम का कहना था कि उनके रिश्तेदार यहां रहते हैं। वह उन्हीं से मिलने आए थे।