असम में गुवाहाटी उच्च न्यायालय (Gauhati High Court) और सत्र अदालतों (sessions courts) ने अगस्त में सोशल मीडिया में “तालिबान समर्थक” पोस्ट के लिए गिरफ्तार किए गए 16 लोगों में से 14 को जमानत दे दी है। आरोपी ने कथित तौर पर अफगानिस्तान में तालिबान (Taliban) के अधिग्रहण का समर्थन करते हुए सोशल मीडिया (social media) में पोस्ट साझा किए थे।

असम पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ गैरकानूनी गतिविधि रोकथाम अधिनियम (UAPA) के तहत मामला दर्ज किया था। पिछले एक पखवाड़े के दौरान 14 आरोपियों को जमानत मिल गई थी। गिरफ्तार लोगों में सैदुल हक नाम का असम पुलिस का एक सिपाही भी शामिल है।

हक को सबसे पहले गौहाटी उच्च न्यायालय (Gauhati High Court) ने जमानत दी थी। इस बीच, धुबरी सत्र अदालत ने दो आरोपियों- खांडाकर नूर अलोम और सैयद अहमद की जमानत अर्जी खारिज कर दी।