असम के स्वास्थ्य मंत्री हेमंत बिस्व सरमा ने कहा कि सीआरपीएफ के सात जवानों समेत राज्य के 10 लोग नयी दिल्ली में कोविड-19 से संक्रमित पाए गए हैं, जो कि राज्य के लिए चिंता का विषय है। असम के बारपेटा जिला निवासी एवं सीआरपीएफ के उप-निरीक्षक इकराम हुसैन की नयी दिल्ली में मंगलवार को कोरोना वायरस संक्रमण से मौत हो गई थी। 

सरमा ने यहां एक संवाददाता सम्मेलन में कहा, ये घटनाएं हमारे लिए चिंता की बात हैं क्योंकि राज्य के बाहर स्थित लोगों की राज्य में वापसी से संक्रमण बढ़ सकता है। मंत्री ने कहा कि देश के विभिन्न हिस्सों से कई लोग ‘‘हमसे उन्हें राज्य वापस लाने के लिए संपर्क कर रहे हैं, लेकिन हमें इस संबंध में सावधानीपूर्वक कदम उठाने होंगे’’। उन्होंने बताया कि दिल्ली में राज्य के जो 10 लोग कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए हैं उनमें दो लोग कैंसर के मरीज हैं जो उपचार के लिए राजधानी गए थे और सात लोग सीआरपीएफ के जवान हैं। 

सरमा ने कहा कि बीमारी को फैलने से रोकने के लिए सार्वजनिक स्वच्छता एवं सामाजिक मेलजोल से दूरी अत्यंत महत्वपूर्ण है। मंत्री ने कहा कि बंगाईगांव में मंगलवार को कोरोना वायरस से संक्रमित पाई गई 16 वर्षीय किशोरी का मामला भी चिंता पैदा कर रहा है क्योंकि ‘‘वह तबलीगी जमात के कार्यक्रम में शामिल होकर लौटे कोविड-19 से संक्रमित अपने दादा के संपर्क में आने के 36 दिन बाद संक्रमित पाई गई’’।सरमा ने कहा कि ऐसी संभावना जताई जा रही है कि ‘‘यह किशोरी किसी अन्य संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में आई, जिसका अभी पता नहीं चल पाया है’’। 

उन्होंने कहा, ‘‘बंगाईगांव उपायुक्त से इस मामले की गहराई से जांच करने को कहा गया है और मैं हालात की समीक्षा के लिए कल वहां जाऊंगा।’’ गोलपारा में मंगलवार को 61 वर्षीय एक अन्य व्यक्ति संक्रमित पाया गया। राज्य में संक्रमित लोगों की कुल संख्या 37 हो गई है। इस बीच, धुबरी एवं गोलपारा के दो मरीजों को स्वस्थ हो जाने के बाद बुधवार को अस्पताल से छुट्टी दे दी गई। राज्य में संक्रमण के 37 मामलों में से सात लोगों का उपचार चल रहा है, एक व्यक्ति की मौत हो गई है और 29 को अस्पताल से छुट्टी दी जा चुकी है।