ईटानगर : अरुणाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री पेमा खांडू ने शुक्रवार को कहा कि उनकी सरकार राज्य में किसी भी तरह के भ्रष्टाचार को बर्दाश्त नहीं करेगी। 

खांडू ने अरुणाचल प्रदेश लोक सेवा आयोग द्वारा हाल ही में आयोजित सहायक अभियंता (सिविल) परीक्षा के प्रश्न पत्र के कथित रूप से लीक होने के बाद यह टिप्पणी की। खांडू ने कहा कि इस घटना में शामिल पाए जाने वाले किसी भी व्यक्ति को चाहे उसकी स्थिति या स्थिति कुछ भी हो उसे बख्शा नहीं जाएगा।

यह भी पढ़े :  Vishwakarma Vrat Katha : भगवान विश्वकर्मा पूजा की व्रत कथा,  कहानी से जानें विश्वकर्मा जयंती का महत्व


खांडू ने आश्वासन दिया कि किसी को भी युवाओं के भविष्य के साथ खेलने की अनुमति नहीं दी जाएगी।  खांडू ने कहा कि पुलिस मामले की जांच कर रही है और अब तक पांच लोगों को गिरफ्तार किया गया है।

उन्होंने कहा, 'मैं दोहराता हूं कि किसी भी क्षेत्र में किसी भी तरह का भ्रष्टाचार बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। इसमें शामिल पाए जाने वालों को सजा का सामना करना पड़ेगा।  खांडू ने सरकारी अधिकारियों और निजी व्यक्तियों से कहा कि वे अपने निजी लाभ के लिए भर्ती प्रक्रिया में हस्तक्षेप न करें।

यह भी पढ़े : Saturday Shani Dev Upay : काले उड़द की दाल के इन उपायों से दूर होगा शनि का प्रकोप, जानिए कैसे करें 


यह वास्तव में निराशाजनक है कि भर्ती प्रक्रिया को सुव्यवस्थित करने के हमारे ईमानदार प्रयासों के बावजूद इस तरह की घटनाएं होती हैं। मैं उम्मीदवारों और लोगों को आश्वस्त करता हूं कि दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी और लीकेज के बिंदु की जांच और सुधार किया जाएगा ताकि भविष्य में इसे दोहराया न जाए।

यह भी पढ़े : Horoscope September 17 : ग्रहों के शुभ प्रभाव से इन लोगों की होगी चांदी ही चांदी, ये लोग लाल वस्‍तु का दान करें


घटना के संबंध में 10 सितंबर को ईटानगर पुलिस स्टेशन में एक मामला दर्ज किया गया था और अगले दिन इसके संबंध में तीन लोगों को गिरफ्तार किया गया था। मामले की जांच की जा रही है। खांडू ने कहा कि अरुणाचल प्रदेश सरकार एपीपीएससी और राज्य कर्मचारी चयन बोर्ड दोनों को मजबूत करने और दो भर्ती एजेंसियों को मजबूत और भ्रष्टाचार मुक्त बनाने के लिए प्रतिबद्ध है।