केंद्रीय जलशक्ति मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत ने कहा कि केंद्र सरकार अरुणाचल प्रदेश के सुदूर इलाकों तक जल की आसान उपलब्धता के लिए प्रत्येक उपाय कर रही है। जल जीवन मिशन से जुड़ी 303 परियोजनाएं पूर्ण की जा चुकी हैं।

शेखावत इन दिनों अरुणाचल प्रदेश के दौरे पर हैं। केंद्रीय मंत्री शेखावत ने गुरुवार को नामसाई में चोंग्खाम और आसपास के क्षेत्रों के लिए एकीकृत जल वितरण परियोजनाओं का लोकार्पण किया। जल जीवन मिशन के अंतर्गत स्वीकृत और पूर्ण परियोजनाओं का जायजा लिया। उन्होंने कहा कि अरुणाचल जल जीवन मिशन - हर घर जल को अभियान के साथ ही साथ आत्मनिर्भरता की सामाजिक संस्कृति का भी रूप दे रहा है। ग्राम जल और स्वच्छता समितियों को इसकी जिम्मेदारी दी गई है।

शेखावत ने कहा कि मारवा, चोंगखेम, नामसाई जिला क्षेत्र की ग्राम जल और स्वच्छता समिति के सदस्यों को कर्तव्य निर्वहन से जुड़े सरोकारों की शपथ भी दिलाई। यह शपथ औपचारिक नहीं, हर घर जल और स्वच्छता की अखिल भारतीय प्रक्रिया का महत्वपूर्ण हिस्सा है। उन्होंने कहा कि जल और स्वच्छता एक-दूसरे के पूरक हैं। शपथ इनके प्रति जागरूक बने रहने के भाव को रेखांकित करती है। शेखावत ने कहा कि लोकार्पण कार्यक्रम में उपस्थित जन समुदाय के चेहरों पर खुशी की चमक देख मुझे संतुष्टि हुई। निश्चित ही राज्य में बुनियादी सुविधाओं का विस्तार हो रहा है।

केंद्रीय मंत्री शेखावत ने कहा कि मोदी सरकार पूर्वोत्तर राज्यों के समग्र विकास को प्राथमिकता देती है। अरुणाचल प्रदेश में विकास की लहर अब स्पष्ट दिखाई देती है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री पेमा खांडू ने नामसाई में अपग्रेड किए जा रहे जिला अस्पताल का भ्रमण कराया। केंद्र और राज्य के बीच छोटी-बड़ी विकास योजनाओं का यह समन्वय अरुणाचल वासियों के जीवन में बेहतरी का बदलाव ला रहा है। प्रोन्नत होती बुनियादी सुविधाएं इसका प्रमाण हैं।