सूचना और जनसंपर्क निदेशालय, नाहरलागुन के कला और प्रदर्शनी प्रकोष्ठ द्वारा संकल्पित और डिजाइन किए गए 'एंग्लो-एबोर (ADI) युद्ध (ANGLO-ABOR (ADI) WAR)' विषय पर अरुणाचल प्रदेश की झांकी को दिल्ली राजपथ पर गणतंत्र दिवस झांकी परेड 2022 में भाग लेने के लिए चुना गया है। जिसमें पूर्वी सियांग के कलाकार प्रदर्शित करेंगे।


अरुणाचल की झांकी (Arunachal Pradesh Tableau) में पूर्वी सियांग के कलाकार 19वीं सदी और 20वीं सदी के शुरुआती हिस्से में अंग्रेजों से अपनी जमीन की रक्षा के लिए आदिवासियों के प्रतिरोध को प्रदर्शित करेगी। अरुणाचल प्रदेश के लोग गुमनाम स्वतंत्रता सेनानियों पर बहुत गर्व करते हैं क्योंकि उनकी बहादुरी, देशभक्ति और सर्वोच्च बलिदान देश के अन्य हिस्सों के समकालीन स्वतंत्रता सेनानियों (freedom fighters) से कम नहीं हैं।

जानकारी दे दें कि गणतंत्र दिवस परेड (Republic Day parade) में भाग लेने के लिए झांकियों का चयन एक श्रमसाध्य लंबी और कठोर प्रक्रिया है जिसमें भारत सरकार के रक्षा मंत्रालय द्वारा नियुक्त विशेषज्ञ समिति द्वारा जांच की गई, जिसमें विभिन्न उन्मूलन दौर शामिल हैं।