पूर्वी कमेंग के उपायुक्त प्राविमल अभिषेक पोलुमतला ने कहा कि पिछले कुछ दिनों से लगातार बारिश के कारण नदियां उफान पर हैं इसलिए ‘लापता’ एवरेस्टर तापी म्रा और उनके सहायक निकू दाओ की पैदल खोज और बचाव अभियान (एसएआर) को तत्काल बंद कर दिया गया है। 

ये भी पढ़ेंः अरुणाचलः नाबालिग से रेप के आरोपी को कोर्ट ने सुनाई 10 साल की सजा


उन्होंने कहा कि पैदल खोज और बचाव अभियान लगातार चुनौतियों का सामना कर रहे हैं क्योंकि पिछले कुछ दिनों से लगातार बारिश होने के कारण कामेंग, कानिया और वाप्रियांग बुंग सहित सभी नदियों का जलस्तर बहुत बढ़ गया है। अरुणाचल प्रदेश सरकार और भारतीय सेना के जवानों और मशीनरी ने ‘लापता’ एवरेस्टर और उनके सहायक की खोज और बचाव के लिए अभियान चलाया, लेकिन लगातार बारिश से उसमें बाधा उत्पन्न होता रहा। 

ये भी पढ़ेंः लापता एवरेस्टर तापी मिरा और सहयोगी निकू दाओ का पता लगाने के लिए होगा सैटेलाइट इमेजरी का इस्तेमाल


अरुणाचल प्रदेश के पहले एवरेस्टर तापी म्रा और उनके सहायक पूर्वी कामेंग जिले की सबसे ऊंची चोटियों में से एक, माउंट ख्यारीसट्टम की एक अभियान के दौरान 17 अगस्त को लापता हो गए। पोलुमतला ने कहा कि आगे की रणनीति हेलीकॉप्टर आधारित एसएआर अभियान पर पूर्ण रूप से ध्यान केंद्रित करने की है। एक प्रभावी और त्वरित अभियान के लिए सभी तैयारियां पूरी कर ली गई है। रक्षा सूत्रों के अनुसार सेना के चार हेलीकॉप्टर आधारित खोज और बचाव दल पूर्वी कामेंग जिले के मुख्यालय सेप्पा में स्टेंडबाय पर हैं।