इस वर्ष सात खिलाड़ियों को देश के चौथे सबसे बड़े नागरिक सम्मान पद्मश्री के लिए चुना गया है। गणतंत्र दिवस की पूर्वसंध्या पर सोमवार को देश के इन प्रतिष्ठित पुरस्कारों की घोषणा की गयी। वर्ष 2021 में दिए जाने वाले पद्मश्री पुरस्कारों में सात खिलाडिय़ों को शामिल किया गया है। 

गृह मंत्रालय के अनुसार पद्मश्री के लिए चुने गए खिलाडिय़ों में तमिलनाडु की पी अनीता, पश्चिम बंगाल की मौमा दास, अरुणाचल प्रदेश की अंशु जमसेनपा, केरल के माधवन नंबियार, उत्तर प्रदेश की सुधा हरि नारायण सिंह, हरियाणा के वीरेंदर सिंह और कर्नाटक के केवाई वेंकटेश शामिल हैं। इस वर्ष राष्ट्रपति ने कुल 119 पद्म पुरस्कारों को मंजूरी दी है, जिनमें सात पद्म विभूषण, दस पद्म भूषण और 102 पद्म श्री पुरस्कार शामिल हैं। पुरस्कार पाने वाली हस्तियों में 29 महिलाएं तथा दस विदेशाों से हैं। 

सोलह हस्तियों को ये पुरस्कार मरणोपरांत दिये जायेंगे। इस बार पद्म पुरस्कार पाने वालों में एक ट्रांसजेंडर भी है। सात हस्तियों को खेलों में उल्लेखनीय योगदान के लिए पद्म पुरस्कारों से सम्मानित किया जायेगा। इसके अलावा कला के क्षेत्र में 37 लोगों को पद्म पुरस्कारों के लिए चुना गया है। पद्म विभूषण पुरस्कार विभिन्न क्षेत्रों में असाधारण तथा विशिष्ट सेवा के लिए , पद्म भूषण उच्च स्तर की विशिष्ट सेवा और पद्मश्री विशिष्ट सेवा के लिए प्रदान किया जाता है। पद्म विभूषण पाने वालों में आबे के अलावा संगीतकार एस पी बालासुब्रमणयम (मरणोपरांत), जाने माने कार्डियोलोजिस्ट बी एम हेगड़े , भारतीय मूल के अमेरिकी नरेन्द्र सिंह कपानी (मरणोपरांत), इस्लामिक विद्धान मौलाना वहीद्दुदीन खान , पुरातत्वविद् बी बी लाल और शिल्पकार सुदर्शन साहू शामिल हैं। 

पद्मू भूषण पाने वाली हस्तियों में गोगोई (मरणोपरांत) , सुश्री महाजन और मिश्रा के अलावा, पूर्व केन्द्रीय मंत्री तथा लोकजन शक्ति पार्टी के संस्थापक रामविलास पासवान (मरणोपरांत) के एन शांताकुमारी चित्रा, चंद्रशेखर कांबरा, गुजरात के पूर्व मुख्यमंत्री और वरिष्ठ राजनेता केशुभाई पटेल (मरणोपरांत) ,कल्बे सादिक (मरणोपरांत), रजनीकांत देवीदास श्राफ और तरलोचन सिंह शामिल हैं। पद्म श्री पाने वाली हस्तियों में टेबल टेनिस खिलाड़ी मौमा दास, सामाजिक कार्यकर्ता शांति देवी और साहित्यकार मृदुला सिन्हा प्रमुख हैं।