भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) के नवीनतम अनुमान के अनुसार बढ़ते तापमान से कुछ राहत मिलने की उम्मीद है क्योंकि अगले तीन दिनों में उत्तर पश्चिम और पूर्वी भारत में अधिकतम तापमान में 2-4 डिग्री सेल्सियस की गिरावट आने की संभावना है। पूर्वोत्तर भारत और उप हिमालयी पश्चिम बंगाल-सिक्किम में बंगाल की खाड़ी से दक्षिण-पश्चिमी हवाओं के चलते अगले 5 दिनों के दौरान गरज के साथ काफी व्यापक वर्षा होने की संभावना है। वही 2 मई को अरुणाचल प्रदेश और उप-हिमालयी पश्चिम बंगाल-सिक्किम में अलग-अलग भारी वर्षा की संभावना है।

ये भी पढ़ेंः राज्य न्यायिक आधारभूत संरचना विकास प्राधिकरण के गठन पर सभी मुख्यमंत्री सहमत, जानिए क्या होंगे फायदे


देश का अधिकांश हिस्सा 28 अप्रैल से भीषण गर्मी की स्थिति का सामना कर रहा है। रविवार को बीकानेर में अधिकतम तापमान 47.1 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया, जो देश में सबसे अधिक है। आईएमडी के पूर्वानुमान में कहा गया है कि अगले दो दिनों में उत्तर पश्चिम भारत के अधिकांश हिस्सों में अधिकतम तापमान में 3-4 डिग्री सेल्सियस की गिरावट आने की संभावना है। अगले 2 दिनों के दौरान मध्य भारत के अधिकांश हिस्सों में अधिकतम तापमान में कोई महत्वपूर्ण बदलाव की उम्मीद नहीं है। अगले 3 दिनों के दौरान पूर्वी भारत, गुजरात और महाराष्ट्र के अधिकांश हिस्सों में अधिकतम तापमान में 2-3 डिग्री सेल्सियस की गिरावट आने की संभावना है। मध्य और ऊपरी क्षोभमंडलीय पश्चिमी हवाओं में एक ट्रफ के रूप में एक पश्चिमी विक्षोभ के प्रभाव के चलते जम्मू-कश्मीर-लद्दाख-गिलगित-बाल्टिस्तान-मुजफ्फराबाद, हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड में गरज और बिजली के साथ हल्की से मध्यम वर्षा होने की संभावना है। 

ये भी पढ़ेंः ब्रिटिश संसद में उठा बुलडोजर का मुद्दा, किरेन रिजिजू ने दिया ऐसा जबरदस्त जवाब


3 मई को जम्मू और कश्मीर में और 3-4 मई को हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड में अलग-अलग जगहों पर ओलावृष्टि की संभावना है। अगले 4 दिनों के दौरान पंजाब, हरियाणा-चंडीगढ़-दिल्ली, उत्तर प्रदेश और राजस्थान में धूल भरी आंधी, गरज, बिजली और तेज हवाओं (40-50 किमी प्रति घंटे की गति) के साथ अलग-अलग हल्की बारिश की संभावना है। आईएमडी ने कहा कि अगले 2 दिनों के दौरान उत्तर पश्चिम भारत के अधिकांश हिस्सों में तेज धूल भरी सतही हवाएं (30-40 किमी प्रति घंटे तक की गति) चलने की संभावना है।  वहीं बिहार, झारखंड में गरज के साथ छींटे, बिजली और तेज हवाएं के साथ काफी व्यापक वर्षा होने की संभावना है।