अरुणाचल प्रदेश के तवांग सेक्टर में भारत और चीन की सेनाओं के बीच हुई झड़प एर बार फिर चर्चा में आ चुकी है। बीते दिने इसपर खुब बवाल भी हुआ विपक्ष ने कई तरह के सवाल सरकार से पूछे थे। अब एक बार फिर तवांग के ये मामला सुर्खियों में बना हुआ है।

आप भी यूज करते हैं इंटरनेट तो हो सकते हैं हैकिंग का शिकार, इन 5 बातों का जरूर रखें ध्यान

 इसलिए फिर से रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने इस विषय पर बात की। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने अंडमान एवं निकोबार के पोर्ट ब्लेयर में सशस्त्र बल के जवानों को 5 जनवरी को संबोधित किया और तवांग सेक्टर में हुई झड़प को लेकर कहा, आपका शौर्य-पराक्रम हमे यांग्त्से, ईस्टर्न कमांड में भी इस बार देखने को मिला है। 

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि कहने को चाहे जो कुछ भी कहे। लेकिन जिस जज्बे से बहादुर सैनिकों ने मुकाबला किया और कामयाबी हासिल की है, उसकी जितनी प्रशंसा की जाए, उतनी कम है। इसके बाद उन्होंने जवानों और अफसरों के सामने नारे लगाते हुए कहा जो बोले सो निहाल' के नारे लगाए। 

गृह मंत्री शाह ने कहा, नागालैंड में उग्रवाद से संबंधित घटनाओं में 74% की कमी आई

इसके साथ ही रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने गलवान में 2020 में हुई झड़प को लेकर भी कहा कि हमारी सेना के जवानों ने शौर्य और पराक्रम दिखाया है।  बाहर कोई कुछ भी बोल दे, लेकिन मुझे एक-एक कदम पर क्या हुआ है। उसकी पूरी जानकारी है।  बराबर रिपोर्ट मेरे पास आती रहती है। उन्होंने साथ ही बताया कि उन जवानों से बात हुई जिन्होंने गलवान में भाग लिया था।