कांग्रेस ने अरुणाचल प्रदेश (Arunachal Pradesh) में कथित चीनी घुसपैठ को लेकर रविवार को भाजपा सरकार (BJP government) पर धोखे में रखने और जानबूझकर मामले को तोड़-मरोड़ कर पेश करने का आरोप लगाया। साथ ही इस मामले पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) की 'चुप्पी' पर सवाल उठाया।

विपक्षी दल ने आरोप लगाया कि भारतीय जनता पार्टी (BJP) पूरे देश को राष्ट्रीय सुरक्षा पर पाठ पढ़ाती है जबकि वह भारत की अखंडता एवं सम्प्रभुता को प्रभावित करने वाले गंभीर मुद्दों के समाधान में नाकाम रही है।

कांग्रेस के प्रवक्ता अभिषेक मनु सिंघवी (Congress spokesperson Abhishek Manu Singhvi) ने सैटेलाइट तस्वीरें साझा करते हुए दावा किया कि चीन ने अरुणाचल प्रदेश (Arunachal pradesh) में भारतीय सीमा में छह-सात किलोमीटर के अंदर एक और गांव बसा दिया है, जिसमें 60 से अधिक ढांचों का निर्माण किया गया है।

सिंघवी ने यह भी दावा किया कि कुछ दिन पहले ही चीन के राष्ट्रपति ने इस जगह के उत्तर में कुछ किलोमीटर की दूरी की यात्रा की थी। कांग्रेस नेता ने मांग उठायी कि प्रधानमंत्री इस मुद्दे का समाधान करें और वह इस संबंध में उठाए जा रहे कदमों के बारे में देश को अवगत कराएं।

सिंघवी ने संवाददाताओं से कहा, ' हम प्रधानमंत्री की चुप्पी की निंदा करते हैं। यह दंडनीय है। यह अक्षम्य है।' हालांकि, इस मामले पर सरकार की तरफ से कोई प्रतिक्रिया नहीं आयी है। कांग्रेस सीमा पर तनाव के मुद्दों से निपटने को लेकर लगातार सरकार पर हमला कर रही है।

कांग्रेस प्रवक्ता ने दावा किया कि प्रधानमंत्री ने 'जनवरी 2019 और सितंबर-अक्टूबर 2021 की घुसपैठ' को लेकर अब तक एक भी शब्द नहीं कहा है। सिंघवी द्वारा साझा की गई सैटेलाइट तस्वीरों में कथित तौर पर अप्रैल 2019 की उसी स्थान की तस्वीरें दिखाई गईं, जिसमें सितंबर 2021 में 60 ढांचों का निर्माण नजर आ रहा है।