देश के उत्तर पूर्वी हिस्से में मौसम के अनूठे रंग देखने को मिले हैं। यहां कई इलाकों में दशकों बाद बर्फबारी ने लोगों को जहां एकतरफ हैरान कर दिया, वहीं दूसरी तरफ लंबे समय बाद अपने इलाकों में बर्फीली चादर बिछी देखकर वे खुश भी हो रहे हैं। खासतौर पर अरुणाचल प्रदेश के डारिया हिल में 34 साल बाद बर्फबारी देखने को मिली है, जबकि पश्चिम बंगाल के हिल एरिया दार्जिलिंग में भी 15 साल बाद आसमान से बर्फ बरसती देखी गई है।

अरुणाचल के कई इलाकों में बर्फबारी

अरुणाचल में ईटानगर के पास डारिया हिल में करीब 34 साल बाद बर्फबारी हुई है। यहां आखिरी बार 1988 में बर्फबारी हुई थी। वहीं, राज्य के कई ऊंचाई वाले क्षेत्रों तवांग (10,200 फीट), बोमडिला (7,923 फीट), मेचुखा (6,200 फीट), जीरो (5,5538 फीट) के अलावा पश्चिम कामेंग जिले में रूपा शहर, दिरांग शहर और दिबांग घाटी के अनिनी में शनिवार को भारी बर्फबारी हुई। चीन सीमा से सटे तवांग शहर के करीब मौजूद सेला दर्रे में कई फीट बर्फ जमने से आवागमन बंद हो गया है, जबकि सेला लेक बर्फ के कारण जम गई है।

1962 में चीनी सेना के हमले का रास्ता बने बुम ला दर्रे में भी करीब 15 फीट बर्फ जम गई है और यहां तापमान भी माइनस 23 डिग्री तक गिर गया है। इसके बावजूद भारतीय सेना के जवान तवांग शहर से करीब 37 किलोमीटर दूर मौजूद इस दर्रे पर अपनी पोस्ट में पूरे हौसले के साथ डटे हुए हैं।

3 दशक बाद मौसम का बदला रूप

अरुणाचल प्रदेश के तवांग और बोमडिला जैसे ऊंचाई वाले इलाकों में हर साल बर्फबारी होती है, लेकिन डारिया हिल में 3 दशक बाद बर्फबारी हुई। रूपा शहर में भी 20 साल बाद और दिरांग शहर में लगभग 15 साल बाद बर्फबारी हुई, जबकि दिबांग घाटी के अनिनी में 5 साल बाद बर्फबारी देखने को मिली है। अरुणाचल में पिछले कई दिन से लगातार हो रही बारिश के कारण मौसम में आए बदलाव को इस बर्फबारी का कारण माना जा रहा है।

दार्जिलिंग भी 15 साल बाद बर्फ से ढका

दार्जिलिंग में भी मौसम बदला हुआ है। वहां माइनस 2 डिग्री तापमान दर्ज किया गया। यहां 15 साल में पहली बार बर्फबारी हुई। सिक्किम के गंगटोक में भी शुक्रवार को पारा 1.7 डिग्री तक पहुंच गया, जो फरवरी महीने में पिछले 14 सालों में सबसे कम दर्ज तापमान है। पिछली बार यहां 14 फरवरी 2007 में बर्फ गिरी थी। दार्जिलिंग के ऊंचाई वाले इलाकों में संदाकफू और टाइगर हिल में अक्सर ही बर्फबारी होती है। वहां भी दो दिन से लगातार बर्फ गिर रही है।