अरुणाचल प्रदेश के लोहित जिले में स्थित परशुराम कुंड में भी माघ महीने में होने वाला परशुराम कुंड मेला गुरुवार से शुरू होकर मकर संक्रांति तक चलेगा। कुछ दिन पहले ही अरुणाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री पेमा खांडू ने इसकी आधिकारिक वेबसाइट का उद्घाटन करते हुए, मेले की शुरुआत की थी। मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर कहा, देश और विदेश से इस बार यहां पर 1.5 लाख से अधिक श्रद्धालुओं के आने की उम्मीद है।

Auto Expo में Tata की धूम! इन खूबियों के साथ पेश की Altroz CNG और Punch CNG

यह मेला हर वर्ष लगता है, लेकिन इस बार कोविड के दो साल के बाद इस मेले का आयोजन हो रहा है। इस दौरान उन्होंने परशुराम कुंड मेला 2023 का एक वीडियो भी साझा किया। इसी वीडियो को साझा करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्विटर पर लिखा, एक आनंदमय अनुभव की तरह दिखता है। अरुणाचल प्रदेश के बारे में जानने का एक अनूठा अवसर।

गत वर्ष मई महीने में गृहमंत्री अमित शाह ने परशुराम कुंड पर भगवान परशुराम की 51 फीट की कांस्य प्रतिमा का शिलान्यास किया था। साथ ही शाह ने यहां परशुराम कुंड स्थल पर मंदिर का जीर्णोद्धार कर स्थापित की गई छह फुट की परशुराम जी की प्रतिकृति का अनावरण भी किया था।

मोटे अनाज की पूरी दुनिया में हो रही चर्चा! जानिए क्या है ये और कितने फायदेमंद हैं


पुरानी मान्यता है कि ऋषि परशुराम ने अपनी मां का वध कर दिया था। इसके बाद परशुराम ने अपने पाप धोने के लिए और किए गए पापों से मुक्ति के लिए लोहित नदी के ब्रह्मकुंड में नहाने चले गए थे। इसलिए पापों से मुक्ति के लिए मकर संक्रांति के अवसर पर श्रद्धालु यहां आकर स्नान करते हैं।