भारत में कोरोना वायरस के मामले 88 लाख के पार पहुंच गए हैं। कुछ शहरों में कोविड-19 के दूसरी-तीसरी लहर का डर बना हुआ है। इस बीच देश के 3 राज्यों तमिलनाडु, अरुणाचल प्रदेश और हरियाणा में आज से स्कूल कॉलेज खुल गए हैं। इन राज्यों में आज से 9 से 12 तक के स्टूडेंट्स के लिए क्लास लगाई जाएंगी। हालांकि महामारी के चलते छात्रों की संख्या सीमित रखी गई है। बता दें कि 21 सितंबर से मिली छूट के बाद कुछ राज्यों में स्कूल खुल गए थे। वहीं, दूसरे राज्यों ने एहतियातन स्कूल बंद रखने का फैसला किया था। कई राज्यों में कोरोना के डर को देखते हुए पैरंट्स अभी भी बच्चों को स्कूल भेजने के लिए राजी नहीं है।

तमिलनाडु

दक्षिणी राज्य तमिलनाडु में भी आज से कक्षा 9 से 12 तक के छात्रों के लिए 7 महीने बाद स्कूल खुल गए हैं। राज्य सरकार ने 16 नवंबर से स्कूल दोबारा खोले जाने की घोषणा की थी। रामेश्वरम में सरकारी, सहायता प्राप्त और प्राइवेट स्कूलों ने पैरंट्स और टीचर के बीच मीटिंग भी रखी थी। सभी बच्चों को सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों का पालन करना होगा और साथ ही मास्क भी पहनना अनिवार्य होगा।

अरुणाचल प्रदेश

पूर्वोत्तर राज्य अरुणाचल प्रदेश ने पिछले दिनों ही कक्षा 10 और 12 के छात्रों के लिए 16 नवंबर से स्कूल खोलने का फैसला किया था। अरुणाचल प्रदेश में आज हजारों स्कूली बच्चे तिरंगा फेस मास्क लगाकर स्कूल जाते दिखे। कोविड-19 संकट के चलते यहां मार्च महीने से स्कूल बंद थे। पिछले दिनों खादी एवं ग्रामोद्योग आयोग ने अरुणाचल प्रदेश में स्कूली बच्चों के लिए तिरंगा कलर के फेस मास्क बांटे थे। आयोग के चेयरमैन विनय कुमार सक्सेना का कहना है कि यह न केवल एक प्रोटेक्टिव गियर है बल्कि छात्रों में देशभावना पैदा करेगा।

हरियाणा

हरियाणा सरकार ने 16 नवंबर से स्कूल, सरकारी कॉलेज और यूनिवर्सिटी को दोबारा खोलने का फैसला लिया था। सरकारी नोटिफिकेशन के अनुसार, छात्रों के कॉलेज और यूनिवर्सिटी में पढ़ाई की जरूरत को ध्यान में रखते हुए, सरकारी, सरकारी सहायता प्राप्त, प्राइवेट कॉलेज और यूनिवर्सिटी को 16 नवंबर से को खोलने का फैसला लिया गया है। सभी प्रोटोकॉल का पालन किया जाएगा।

ओडिशा में नहीं खुलेंगे स्कूल

कोरोना महामारी और छात्रों के स्वास्थ्य को ध्यान में रखते हुए कुछ राज्य फिलहाल स्कूल खोलने की जल्दबाजी में नहीं दिख रहे हैं। ओडिशा में अब दिसंबर में स्कूल नहीं खोले जाएंगे। सरकार ने कोविड-19 को देखते हुए 31 दिसंबर तक स्कूल बंद रखने का फैसला किया है। अब आगे स्कूल कब खोले जाएंगे इस पर फिर से विचार किया जाएगा।