असम राइफल्स और पुलिस की एक टीम ने अरुणाचल के चांगलांग जिले के जयरामपुर पुलिस स्टेशन के देबन नंदन कन्नन गांव से नेशनल सोशलिस्ट काउंसिल ऑफ नगालिम (के-युंग आंग) के एक शीर्ष नेता को गिरफ्तार किया। इसके साथ ही चार नए रंगरूट भी पुलिस की गिरफ्त में आए। 

ये भी पढ़ेंः STEM for Girls : IBM ने अरुणाचल प्रदेश में लड़कियों के लिए STEM शुरू करने की घोषणा की


एनएससीएन (के-वाईए) नेता की पहचान एक स्वयंभू सार्जेंट मेजर रावे गैलन के रूप में की गई है, जबकि अन्य एक की पहचान डेनियल चकमा के रूप में हुई है। तीन अन्य को उग्रवादी समूह को रसद और अन्य सहायता प्रदान करने के आरोप में गिरफ्तार किया गया था। उनकी पहचान नयन कुमार चकमा, ताज कुमार चकमा और शांतिमुनि चकमा के रूप में हुई है। 

ये भी पढ़ेंः सुरक्षा बलों को मिली बड़ी सफलता, भारी मात्रा में हथियार, गोला-बारूद किया बरामद


पुलिस ने कहा कि विद्रोही नेता हाल ही में म्यांमार से अरूणाचल में उग्रवादी संगठन के लिए नए कार्यकर्ताओं की भर्ती के लिए आया था। बता दें कि दशकों से उग्रवाद का सामना कर रहे स्थानीय निवासियों ने अब उग्रवादियों को साजो-सामान या आर्थिक सहायता देने से इंकार करना शुरू कर दिया है। इसके अलावा संगठनों को कथित तौर पर नए कैडरों की भर्ती करने में भी कठिनाई का सामना करना पड़ रहा है। हालात ऐसे हैं कि उग्रवादी संगठनों को नए कैडरों की भर्ती के लिए म्यांमार स्थित शिविरों से वरिष्ठ नेताओं को भेजना पड़ रहा है।