हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड (एचएएल) का पहला मेड इन इंडिया (स्वदेशी) विमान डोर्नियर डीओ-228 ने मंगलवार को असम के डिब्रूगढ़ और अरुणाचल प्रदेश के पासीघाट के बीच अपनी पहली व्यावसायिक उड़ान भरी। 

ये भी पढ़ेंः मतदान को लेकर नही देखा होगा ऐसा उत्साह, नाव पर सवार होकर पहुंचे लोग


विमान में केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया, कानून एवं न्याय मंत्री किरण रिजिजू और अन्य गणमान्यों सवार थे। आधिकारिक सूत्रों ने इसकी जानकारी दी। भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण के पूर्वोत्तर क्षेत्र के क्षेत्रीय कार्यकारी निदेशक ने एक ट्वीट कर कहा, यह ऐतिहासिक विमान अरुणाचल प्रदेश पहुंच चुका है। सार्वजनिक क्षेत्र की अलायंस एयर देश की पहली वाणिज्यिक एयरलाइन बन गई है जिसने नागरिक परिचालन के लिए देश में बने विमान का इस्तेमाल किया है। डोर्नियर-228 विमानों का उपयोग अब तक केवल सशस्त्र बल ही करते थे। 

ये भी पढ़ेंः गजब! महिला के सीने पर उग आया सींग, मामला देख उड़े डॉक्टरों के होश


उन्होंने कहा, भारत में निर्मित वाणिज्यिक डोर्नियर विमान का देश में पहली बार परिचालन हुआ। मंत्रियों और अधिकारियों के साथ यह आज पासीघाट पहुंचा, जो कि पूर्वोत्तर भारत में एक नए युग की शुरुआत है। जय हो। इससे पहले सिंधिया ने ट्विटर पर कहा था, भारत में निर्मित 17 सीटों वाली डोर्नियर 228 विमान पर सवार होने पर बहुत खुशी हुई और गर्व हुआ है। अरुणाचल प्रदेश के लिए अपने आप में यह पहली सेवा है। रिजिजू ने इस ऐतिहासिक अवसर पर ट्वीट किया, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के विजन ‘उड़ान’के तहत पहली बार किसी फिक्स्ड विंग विमान में सवार होकर अपने गृह राज्य अरुणाचल प्रदेश जा रहा हूं। अपनी इस प्रचेष्ठा के तहत वह पहले मेड इन इंडिया विमान डोर्नियर डीओ-228 के जरिए पूर्वोतर भारत को अन्य जगहों से जोड़ रहे हैं। सोमवार को अरूणाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री पेमा खांडू ने ट्वीट किया, कल उस ऐतिहासिक दिन का बेसब्री से इंतजार है जब डिब्रूगढ़ से पासीघाट तक उड़ान भरने वाले स्वदेशी निर्मित डोर्नियर विमान का पहला संचालन होगा। यह हल्का विमान पूर्वोत्तर में हवाई संपर्क को सुगम बनाने की दिशा में गेम चेंजर साबित होगा।