लेफ्टिनेंट जनरल कैवल्य त्रिविक्रम परनाइक को अरुणाचल प्रदेश का राज्यपाल, लक्ष्मण प्रसाद आचार्य को सिक्किम का राज्यपाल, सीपी राधाकृष्णन को झारखंड का राज्यपाल, गुलाब चंद कटारिया को असम का राज्यपाल और शिव प्रताप शुक्ला को हिमाचल प्रदेश का राज्यपाल नियुक्त किया गया है। वहीं भाजपा प्रदेश उपाध्यक्ष व विधान परिषद सदस्य लक्ष्मण प्रसाद आचार्य को सिक्किम का नया राज्यपाल बनाया गया है। वो गंगा प्रसाद का स्थान लेंगे, जिनका कार्यकाल सात फरवरी को समाप्त हो गया था। इस सूचना के बाद से लक्ष्मण आचार्य के समर्थकों में खुशी की लहर है। उन्होंने मिठाई बांटकर खुशी के लम्हों को एक-दूसरे से साझा किया।  

ये भी पढ़ेंः सात दशक लंबे धेमाजी-पूर्वी सियांग जिले के साथ सीमा समस्या का समाधान हुआ

वाराणसी के रामनगर निवासी लक्ष्मण प्रसाद आचार्य लंबे वक्त से भाजपा से जुड़े हुए हैं। संगठन में उनकी गहरी पैठ है। संघ पृष्ठभूमि से ताल्लुक रखने वाले लक्ष्मण आचार्य मत्स्य विकास निगम के अध्यक्ष भी रह चुके हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खास करीबियों में उनकी गिनती होती है। पीएम मोदी के हर वाराणसी दौरे में लक्ष्मण आचार्य साथ-साथ नजर आते हैं। 1977 तक आरएसएस द्वारा संचालित सरस्वती शिशु मंदिर में पढ़ाने वाले लक्ष्मण आचार्य राम मंदिर आंदोलन में भागीदार रहे हैं। पूर्वांचल में गैर ओबीसी के बीच भाजपा की पैठ बनाने का श्रेय भी इन्हें दिया जाता है।  लक्ष्मण आचार्य आदिवासी बहुल सोनभद्र के मूल निवासी हैं। वाराणसी के रामनगर में उनका परिवार रहता है।

ये भी पढ़ेंः अरुणाचल प्रदेश की विधायक ने लिया दिवंगत पति के अधूरे कार्यों को पूरा करने का संकल्प

दूसरी तरफ मऊ के कई बार के विधायक फागू चौहान को मेघालय का राज्यपाल बनाया गया है। वह अभी तक बिहार के राज्यपाल के तौर पर सेवा दे रहे थे। बता दें कि देश की राजनीति और लोकतांत्रिक व्यवस्था में रविवार को बड़ी हलचल देखने को मिली। राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने 13 प्रदेश के राज्यपालों को बदल दिया है। कई राज्यों में राज्यपालों का तबादला किया गया है तो वहीं कई जगह नए चेहरों को तवज्जो मिली है।