अरुणाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री पेमा खांडू ने कहा है कि चालू वित्त वर्ष के पहले दो महीनों अप्रैल और मई के दौरान केंद्रीय करों में राज्य का हिस्सा 17.81 प्रतिशत घट गया है। ऐसे में कोविड-19 के खिलाफ लड़ाई में राज्य को संसाधनों की कमी से जूझना पड़ रहा है।


उन्होंने कहा कि केंद्रीय करों में राज्य का हिस्सा प्रति माह 985.83 करोड़ रुपये रहता है। अप्रैल और मई में वास्तविक प्राप्तियां 1,620.56 करोड़ रुपये हैं। मासिक आधार पर यह औसतन 810.28 करोड़ रुपये बैठता है। खांडू ने शुक्रवार को सभी दलों के विधायकों की सर्वदलीय बैठक में कहा, 'पिछले दो माह के दौरान केंद्रीय करों में अरुणाचल प्रदेश के हिस्से में 17.81 प्रतिशत की कमी आई है। सालाना आधार पर यह 2,457.67 करोड़ रुपये बैठेगी।'


खांडू ने कहा कि केंद्र से मिलने वाला कोष राज्य के विकास की प्रक्रिया में अत्यंत महत्वपूर्ण है, क्योंकि हमारा खुद का संसाधन सृजन सीमित है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार को कोविड-19 की वजह से स्वास्थ्य ढांचे पर काफी अधिक खर्च करना पड़ रहा है।

इससे राज्य के खजाने पर बोझ बढ़ गया है। खांडू ने बताया कि अरुणाचल प्रदेश ने अब तक कोविड-19 की रोकथाम के उपायों पर 45.73 करोड़ रुपये खर्च किए हैं। इसके अलावा राज्य की अर्थव्यवस्था को उबारने के लिए एक समिति का भी गठन किया गया है।