केंद्रीय खेल मंत्री किरेन रिजिजू ने रविवार को कहा कि उन्होंने बिहार की रहने वाली 15 साल की ज्योति कुमारी के ट्रायल के लिए भारतीय खेल प्राधिकरण (साई) के अधिकारियों और भारतीय साइक्लिंग महासंघ को निर्देश दिए हैं।


ज्योति लॉकडाउन के दौरान अपने घायल पिता को साइकिल पर बैठाकर गुरुग्राम से बिहार के दरभंगा तक ले गयी थीं। इस दौरान उन्होंने साइकिल पर 1000 किलोमीटर से भी लंबा सफर तय किया था। इस खबर के सामने आने के बाद से ज्योति के ट्रायल की मांग हो रही है। विभिन्न केंद्रीय मंत्रियों और अन्य लोगों के सवाल का जवाब देते हुए रिजिजू ने कहा कि अगर ज्योति में काबिलियत होगी तो उन्हें आईजीआई स्टेडियम में राष्ट्रीय अकादमी में ट्रेनी के तौर पर चुना जाएगा।


रिजिजू ने ट्वीट कर कहा, मैं आश्वस्त करता हूं कि मैं साई के अधिकारियों और भारतीय साइक्लिंग महासंघ से ज्योति का ट्रायल लेने के बाद मुझे रिपोर्ट करने के लिए कहूंगा। अगर वह काबिल पायी गयीं तो उन्हें नयी दिल्ली स्थित आईजीआई स्टेडियम में राष्ट्रीय साइक्लिंग अकादमी में ट्रेनी के तौर पर चुना जाएगा। इससे पहले केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद और राम विलास पासवान ने खेल मंत्री से ज्योति की प्रतिभा को मौका देने का अनुरोध किया था।