ईटानगर। अरुणाचल प्रदेश की राजधानी ईटानगर में पिछले कुछ दिनों से लगातार हो रही बारिश के मद्देनजर किसी भी प्रकार की अप्रिय घटना से बचने के लिए ईटानगर कैपिटल कॉम्प्लेक्स जिला प्रशासन ने रविवार को संवेदनशील क्षेत्रों में रहने वाले लोगों से सुरक्षित जगहों पर जाने की अपील की हैं। आधिकारिक सूत्रों ने यहां बताया कि लगातार भारी बारिश होने के कारण राजधानी क्षेत्र के कुछ स्थानों पर आज भूस्खलन हुआ और अचानक बाढ़ आ गई। 

यह भी पढ़े : Jahangirpuri Iftar Party: जहांगीरपुरी में हिंदुओं और मुसलमानों में दिखा शांति और सौहार्द, आज दोनों समुदाय करेंगे इफ्तार पार्टी

जिला प्रशासन ने परामर्श जारी कर नागरिकों से विशेष रूप से मानसून के दौरान सतर्क रहने और नदियों, नालों, निचले इलाकों आदि के पास अवैध रूप से मिट्टी काटने तथा घर बनाने से परहेज करने का आग्रह किया। ईटानगर कैपिटल कॉम्प्लेक्स के उपायुक्त सह जिला आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (डीडीएमए) के अध्यक्ष तालो पोटोम ने कहा, 'हालांकि प्रकृति के प्रकोप से कोई खुद को नहीं बचा सकता है, लेकिन विभिन्न एहतियाती उपायों से आपदाओं से बचा जा सकता है।'

यह भी पढ़े : VASTU TIPS: घर में आईना लगवाते समय उसकी दिशा का विशेष ख्याल रखें, इस दिशा में लगाने से बचें

जिला प्रशासन ने जिला आपातकालीन संचालन केंद्र (डीईओसी ) को सक्रिय करते हुए कहा है टोल-फ्री नंबर 1077, 878-7336331, 9436415828 जारी किया हैं। इस बीच, डीए ने डोबाम गांव, बांदेरदेवा में नौभंगा पुल के मरम्मत कार्य के कारण राष्ट्रीय राजमार्ग (एनएच) -415 के बंदरदेवा-निरजुली खंड के माध्यम से लोड किए गए पिकअप ट्रक, यात्री बसों आदि सहित भारी मोटर वाहनों की आवाजाही को प्रतिबंधित करने का निर्णय लिया है। पिछले कुछ दिनों से खराब मौसम और लगातार बारिश के कारण लोगों के बीमार पडऩे की खबरें आ रही हैं। ऐसे वाहनों की आवाजाही अगले आदेश तक हररनोती-गुमतो-यूपिया और बाग तिनाली-दोईमुख-गुमतो सड़कों से डायवर्ट की जाएगी।