ईटानगर। अरुणाचल प्रदेश में चीन की सीमा से लगे शि-योमी जिले की सुरम्य मेचुखा घाटी में लोगों की आवाजाही सुगम बनाने के लिए 'जल्द' भारतीय वायु सेना के फिक्स्ड विंग विमान उड़ान भरेंगे। अरुणाचल प्रदेश विधानसभा अध्यक्ष पासंग दोरजी सोना ने बुधवार को मेचुखा में अपने कार्यालय कक्ष में भारतीय वायु सेना (आईएएफ) और शि-योमी जिला प्रशासन के अधिकारियों के साथ बैठक की और मेचुखा एएलजी (उन्नत लैंडिंग मैदान) में सिविल टर्मिनल से संबंधित विभिन्न मुद्दों पर चर्चा की। 

ये भी पढ़ेंः ममता बनर्जी के खिलाफ अपमानजनक सामग्री बनाने के आरोप में YouTuber गिरफ्तार

उन्होंने कहा, 'केन्द्र सरकार की उड़ान योजना के तहत फिक्स्ड विंग विमान जल्द ही पासीघाट, तेजू और जीरो की लाइन में शि-योमी जिले में सुरम्य मेचुखा घाटी में काम करेगा, जिससे लोगों की निर्बाध और आसान आवाजाही हो सके।' 

ये भी पढ़ेंः एक्शन मोड में अमित शाह, PFI पर लगाया 5 साल का बैन, 8 सहयोगी संगठनों पर भी प्रतिबंध

उन्होंने सुदूर सीमावर्ती जिले में हवाई संपर्क के महत्व पर जोर देते हुए कहा कि एक बार हवाई सेवा शुरू होने से न केवल शि-योमी के लोगों को बल्कि मेचुखा घाटी भ्रमण के लिए आने वाले पर्यटकों को भी इसका लाभ मिलेगा।