कोरोना के चलते देशभर में लॉकडाउन के बीच अब धीरे-धीरे अतिआवश्यक चीजों की कमी देखने को मिल रही है। ऐसा ही एक मामला पूर्वोत्तर राज्य अरुणाचल प्रदेश से सामने आया है, जहां सब्जियों की कमी हो गई है। इस संबंध में राज्य कृषि विभाग ने जिलों के उपायुक्तों को कृषि उत्पादन विपणन समिति के कामकाज की समीक्षा करने की सलाह दी है।

उपायुक्तों को लिखे पत्र में कृषि सचिव बिडोल तायेंग ने कहा कि असम से सब्जियों का आयात या तो रोक दिया गया है या परिवहन की कमी के कारण आ नहीं पा रहा है। इसके कारण राज्य में सब्जियों की कमी हो रही है। उन्होंने कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों से सब्जियां कस्बों के बाजार में आने के कारण अधिकतर जिलों में स्थिति अभी ठीक है, लेकिन राजधानी में स्थिति बिगड़ रही है।

एपीएमसी को पहले से ही जिले में अतिरिक्त हो गईं सब्जियों को किल्लत वाले जिलों में भेजने के लिए कहा गया है। पत्र में कहा गया है कि यदि सब्जियां आवश्कता से अधिक हैं तो संबंधित जिला एपीएमसी के माध्यम से राज्य की राजधानी को भी भेजा जा सकता है। इसके अतिरिक्त बांदरदेवा और पापुम पारे के शीत भंडारणों में लगभग 100 मीट्रिक टन आलू होने की बात कही गई है। अरुणाचल प्रदेश कृषि विपणन बोर्ड (एपीएएमबी) के मुख्य कार्यकारी अधिकारी ओकीत पालिंग को सभी एपीएमसी के साथ समन्वय करने के लिए राज्य नोडल अधिकारी के रूप में नामित किया गया है।