कांग्रेस ने चीनी पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (PLA) द्वारा भारतीय युवाओं के "बार-बार अपहरण" को लेकर केंद्र पर निशाना साधा है। पूर्वोत्तर राज्य अरुणाचल कांग्रेस (Congress) ने केंद्र से मांग की है कि वह मौखिक आश्वासन देना बंद करे और इसके बजाय चीनी PLA द्वारा भारतीय युवाओं के "बार-बार अपहरण" को समाप्त करने के लिए ठोस कदम उठाए।


अरुणाचल कांग्रेस (Congress) के कार्यकारी अध्यक्ष बोसीराम सिरम (Bosiram Siram) ने कहा कि "चीन (China) अरुणाचल प्रदेश के लिए खतरा रहा है। केंद्र सरकार को मौखिक आश्वासन देना बंद कर देना चाहिए और राज्य की सुरक्षा और क्षेत्रीय अखंडता सुनिश्चित करने के लिए ठोस कदम उठाने चाहिए ”। अरुणाचल प्रदेश कांग्रेस के नेता ने अरुणाचल प्रदेश के ऊपरी सियांग जिले (Siang) के जिदो गांव के 17 वर्षीय अरुणाचल लड़के मिराम तारोन के 'अपहरण' का जवाब देते हुए यह बयान दिया है।बोसीराम सिरम (Bosiram Siram) ने कहा, "लड़के की सुरक्षित वापसी सुनिश्चित करने के लिए सरकार को तेजी से कार्रवाई करनी चाहिए।" इस बीच, चीन ने अरुणाचल के लड़के के ठिकाने के बारे में किसी भी जानकारी से इनकार किया है, जिसका कथित तौर पर पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (PLA) द्वारा 'अपहरण' किया गया था।

बीजिंग (Beijing) में चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने कहा, "मुझे स्थिति की जानकारी नहीं है।" हालांकि, उन्होंने कहा कि पीएलए चीनी सीमाओं को नियंत्रित करता है और "अवैध प्रवेश और निकास गतिविधियों" पर नकेल कसता है।


PLA द्वारा अरुणाचल के लड़के के 'अपहरण' के आरोपों के जवाब में प्रवक्ता ने कहा, "चीनी पीपुल्स लिबरेशन आर्मी कानून के अनुसार सीमाओं को नियंत्रित करती है और अवैध प्रवेश और निकास गतिविधियों पर नकेल कसती है।" भारतीय सेना ने अरुणाचल के युवाओं को 'पता लगाने' और 'उसे वापस करने' के लिए PLA से सहायता मांगी है।