नई दिल्ली। जनवरी खत्म होने वाला है लेकिन कड़ाके की ठंड (Cold Wave) का दौर लगातार जारी है। उत्तर भारत में हिमाचल प्रदेश और कश्मीर में फिर हुए बर्फबारी से तापमान गिर गया है। इस बीच मौसम विभाग ने मध्य और पश्चिम भारत के लिए नया अलर्ट जारी किया है। देश के इन इलाकों में शीतलहर का नया दौर शुरू होने वाला है। इन राज्यों में न सिर्फ तापमान में गिरावट होगी बल्कि 2 से 4 फरवरी के बीच बारिश की भी चेतावनी है।

मौसम विभाग के अनुसार उत्तर-पश्चिम और मध्य भारत में 10-20 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवा चलेगी। इस वजह से इन इलाकों के तापमान 2-4 डिग्री सेल्सियस गिर सकते हैं। मध्य प्रदेश के अलग-अलग इलाकों में शीत लहर की स्थिति बनी रहेगी। इसके अलावा छत्तीसगढ़ और विदर्भ के भी तापमान में गिरवाट होगी। 

इसके साथ ही अगले 24 घंटों के दौरान पंजाब, हरियाणा, चंडीगढ़, पश्चिमी उत्तर प्रदेश और राजस्थान में अलग-अलग इलाकों में शीत लहर के हालात बने रहेंगे। उत्तर प्रदेश में अलग-अलग इलाकों में भी कड़ाके की ठंड बने रहने की संभावना है। वहीं बिहार में भी लोगों को फिलहाल ठंड से राहत नहीं मिलेगी। लेकिन पूर्वी राजस्थान के लोगों को अगले 24 घंटे के बाद ठंड से राहत मिल सकती है।

मौसम विभाग के मुताबिक अगले 24 घंटों के दौरान, 29 और 30 जनवरी को पश्चिमी हिमालय के ऊपरी इलाकों में हल्की बारिश और हिमपात की चेतावनी ही। अरुणाचल प्रदेश में छिटपुट हल्की से मध्यम बारिश संभावना है। इसके अलावा पूर्वोत्तर भारत में हल्की बारिश हो सकती है। बाकी पूर्वोत्तर भारत, तटीय तमिलनाडु, रायलसीमा और केरल और लक्षद्वीप के अलग-अलग हिस्सों में हल्की बारिश हो सकती है।

राजस्थान के अनेक इलाकों में कड़ाके की ठंड का दौर जारी है। करौली में न्यूनतम तापमान 0.3 डिग्री सेल्सियस रहा। मौसम विभाग के अनुसार बीते चौबीस घंटे में न्यूनतम तापमान चित्तौड़गढ़ में 0.4 डिग्री सेल्सियस, फतेहपुर में 1.4 डिग्री सेल्सियस, भीलवाड़ा व सीकर में 1.8 डिग्री सेल्सियस, संगरिया में 2.3 डिग्री सेल्सियस, चुरू व अंता में 3.1 डिग्री सेल्सियस, अलवर में 3.4 डिग्री सेल्सियस, डबोक में 3.6 डिग्री सेल्सियस और नागौर में 4.1 डिग्री सेल्सियस रहा।