ईटानगर। अरुणाचल प्रदेश (Arunachal Pradesh) के उपरी सियांग जिले से लापता लड़का मिराम तारोन (miram taron) को चीनी सेना ने भारतीय सेना को सौंप दिया है। एक बुधवार को अपहरण मामले को लेकर भारतीय सेना (Indian Army) और चीन की पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (PLA) के बीच फोन पर बात हुई थी।

केंद्रीय कानून और न्याय मंत्री किरण रिजिजू (Union Minister of Law and Justice Kiren Rijiju) ने यह जानकारी दी। रिजिजू ने ट्वीटर पर लिखा, 'चीन की पीपल्स लिबरेशन आर्मी ने अरुणाचल प्रदेश के युवक मिराम तारोन (Miram Taron) को भारतीय सेना को सौंप दिया है। मेडिकल जांच सहित उचित प्रक्रियाओं का पालन किया जा रहा है।'

बता दें कि गणतंत्र दिवस के अवसर पर भारतीय सेना और चीनी पीएलए के बीच हॉटलाइन पर बात की थी। इस मामले में अरुणाचल पूर्व से बीजेपी सांसद तापिर गाओ (BJP MP Tapir Gao) ने मीडिया से बात करते हुए कहा है कि हमें खुशी है कि हमारा लड़का वापस आ गया है।

गौर हो कि 18 जनवरी को मिराम तारोन के किडनैप किए जाने की खबरें सामने आई थीं, जिसके बाद भारतीय सेना ने पीएलए से संपर्क किया था। भारतीय सेना का कहना था कि शियुंग ला के बिशिंग इलाके से मिराम तारोन (Miram Taron) लापता हो गया है, वह शिकार के लिए निकला था। चीनी सेना (china Army) से भारतीय सेना (Indian Army) ने कहा था कि यदि वह रास्ता भटक गया हो या फिर उनकी हिरासत में हो तो फिर उसका पता लगाएं और तत्काल भारत को सौंपें।

इसके बाद पीएलए (PLA) की ओर से 20 जनवरी 2022 को एक लड़के के उनके क्षेत्र में मिलने की पुष्टि की गई थी और उन्होंने पहचान के लिए उससे जुड़ी जानकारी की मांग की थी। इसमें चीन की मदद करने के लिए भारतीय सेना (Indian army) ने लड़के से जुड़ी पहचान, निजी जानकारी और तस्वीरें साझा की थी।'