चीन के राष्ट्रपति शी जिंगपिंग ने देश के राजनीतिक रूप से संवेदनशील तिब्बत क्षेत्र का अपना पहला आधिकारिक दौरा किया। चीन के राष्ट्रपति के रूप में शी जिंगपिंग की तिब्बत की यह पहली आधिकारिक यात्रा है, साथ ही तीन दशकों में देश के किसी भी राष्ट्रपति की इस तरह की पहली यात्रा है। शी जिनपिंग ने भारत-चीन सीमा पर अरुणाचल प्रदेश के पास रणनीतिक रूप से स्थित तिब्बती शहर निंगची का दौरा किया।

उन्होंने यारलुंग त्संगपो नदी (भारत में ब्रह्मपुत्र नदी के रूप में जाना जाता है) पर न्यांग ब्रिज का भी दौरा किया और "बेसिन में पारिस्थितिक संरक्षण का निरीक्षण किया"। चीन द्वारा तिब्बत में अपनी पहली बुलेट ट्रेन के संचालन के बाद तिब्बती शहर निंगची ने जून में दुनिया भर में सुर्खियां बटोरीं। बुलेट ट्रेन तिब्बत की प्रांतीय राजधानी ल्हासा को निंगची से जोड़ती है।

शी ने निंगची सिटी प्लानिंग म्यूजियम और तिब्बती शहर के अन्य क्षेत्रों का भी दौरा किया और शहरी विकास योजना, ग्रामीण पुनरोद्धार और शहरी पार्कों के निर्माण का जायजा लिया। उन्होंने न्यिंगची रेलवे स्टेशन का भी दौरा किया और ल्हासा के लिए ट्रेन में चढ़ने से पहले सिचुआन-तिब्बत रेलवे लाइन के काम की योजना का निरीक्षण किया।