कांग्रेस के पूर्व सांसद निनॉन्ग एरिंग ने कहा कि चीन अरुणाचल प्रदेश के युवाओं को चीनी पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (PLA) में भर्ती करने की कोशिश कर रहा है। निनॉन्ग एरिंग ने कहा कि “अब तक हमें जो जानकारी मिली है, उसके अनुसार, चीनी पीएलए तिब्बत के साथ-साथ अरुणाचल के युवाओं की भर्ती करने की कोशिश कर रहा है। यह गंभीर चिंता का विषय है और केंद्रीय रक्षा मंत्रालय और गृह को इसे गंभीरता से लेना चाहिए "। 

बता दें कि लोबा समुदाय के लोगों द्वारा बोली जाने वाली भाषा और सीमावर्ती क्षेत्रों में रहने वाले अरुणाचल प्रदेश के लोगों के बीच समानता है। लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि वे चीनी पीएलए में शामिल होना चाहेंगे।' अरुणाचल प्रदेश के निवासी चीन से प्रभावित नहीं होंगे।

पूर्व सांसद ने कहा, "मैं रक्षा मंत्रालय से मामले को गंभीरता से लेने और हमारी सीमा को बचाने के लिए विभिन्न बलों में अरुणाचली युवाओं की भर्ती के लिए कदम उठाने का अनुरोध करना चाहता हूं।"