अमेरिकी रक्षा मंत्रालय पेंटागन (US Defense Department Pentagon) की एक रिपोर्ट में कहा गया है कि चीन (china) अरुणाचल (Arunachal) से सटे विवादित इलाकों में गांव बसा रहा है. पेंटागन (Pentagon) की रिपोर्ट में अरुणाचल प्रदेश से सटे विवादित इलाके में 100 घरों वाले गांव का जिक्र खास तौर से किया गया है. 

इसी को लेकर AIMIM चीफ असदुद्दीन ओवैसी (Asaduddin Owaisi) ने मोदी सरकार (modi government) पर हमला बोला है. ओवैसी ने कहा, हमारी मांग है कि लोकसभा के शीतकालीन सत्र में चीन को लेकर एक पूरी बहस होनी चाहिए और सभी पार्टियों को भारत-चीन बॉर्डर पर ले जाया जाए. चीन ने अरुणाचल में गांव बना लिया है. मोदी सरकार चीन पर कुछ नहीं बोल रही है.

हमारी मांग है कि लोकसभा के शीतकालीन सत्र (Lok Sabha winter session) में चीन को लेकर एक पूरी बहस होनी चाहिए. सभी पार्टियों को चीन जहां पर बैठा हुआ है बॉर्डर पर, वहां ले जाया जाए. ओवैसी (Owaisi) ने आगे कहा,  जब कश्मीर में यह सरकार ऑल पार्टी डेलिगेशन को ले गई थी तो चीन-भारत बॉर्डर पर ले जाने पर क्यों दिक्कत है. हम जाकर वहां देखेंगे कि बॉर्डर पर क्या हालात हैं. इसलिए सभी पार्टियों के डेलिगेशन को भारत-चीन बॉर्डर (India china border) पर ले जाया जाए. 

उन्होंने यह भी कहा कि अगर सरकार राष्ट्रीय सुरक्षा का हवाला देकर संसद में बहस से मना करेगी तो रूल 2 के अनुसार सीक्रेट डिबेट बुलवाइए, जो लाइव नहीं जाएगा और मीडिया के लोग भी नहीं होंगे. चौथी बात यह है कि पीएम चीन पर खामोश हैं. मोदी (modi) और बीजेपी (BJP) चीन पर खामोश क्यों हैं?