विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता (Foreign Ministry spokesperson) अरिंदम बागची (Arindam Bagchi) ने अरुणाचल प्रदेश में चीन द्वारा बनाए गए 100 घरों के गांव पर टिप्पणी करते हुए कहा कि  "चीन (China) ने पिछले कई वर्षों में सीमावर्ती क्षेत्रों के साथ-साथ उन क्षेत्रों में निर्माण गतिविधियां शुरू की हैं, जिन पर उसने दशकों से अवैध रूप से कब्जा कर रखा है।"

बागची (Arindam Bagchi) ने कहा कि "भारत अपनी सुरक्षा को प्रभावित करने वाले सभी घटनाक्रमों पर लगातार नजर रखता है और अपनी संप्रभुता और क्षेत्रीय अखंडता की रक्षा के लिए सभी आवश्यक उपाय करता है "। बता दें कि संयुक्त राज्य अमेरिका के रक्षा विभाग की एक रिपोर्ट में 100 घरों वाले चीनी गांव का उल्लेख किया गया है जिसे कथित तौर पर चीन द्वारा "PRC के तिब्बत स्वायत्त क्षेत्र और भारत के अरुणाचल प्रदेश के बीच विवादित क्षेत्र के अंदर" बनाया गया था।
अमेरिकी रक्षा रिपोर्ट का शीर्षक है - "रिपोर्ट ऑन मिलिट्री एंड सिक्योरिटी डेवलपमेंट्स इनवॉल्विंग द पीपल्स रिपब्लिक ऑफ चाइना - 2021"।यह रिपोर्ट यूएस-आधारित इमेजिंग कंपनी प्लैनेट लैब्स द्वारा किए गए रहस्योद्घाटन को स्थापित करती है, जब उसने तस्वीरों की एक श्रृंखला जारी की, जिसमें दावा किया गया कि अरुणाचल प्रदेश (Arunachal Pradesh) के ऊपरी सुबनसिरी जिले में त्सारी चू नदी के किनारे लगभग 100 घर बनाए गए हैं।रिपोर्ट में कहा गया है, "2020 में कभी-कभी, चीन के जनवादी गणराज्य ने पीआरसी के तिब्बत स्वायत्त क्षेत्र और एलएसी के पूर्वी क्षेत्र में भारत के अरुणाचल प्रदेश राज्य के बीच विवादित क्षेत्र के अंदर एक बड़ा 100-घर का नागरिक गांव बनाया।"