ईटानगर। बिहार के IAS अरुणाचल प्रदेश में सफलता की नई ऊंचाइयां छू रहे हैं। समस्तीपुर के रहने वाले 2014 बैच के IAS संतोष कुमार पिछले दो सालों से स्टाफ सेलेक्शन बोर्ड के सचिव और परीक्षा नियंत्रक हैं तथा उनके निर्देशन में बोर्ड ने कई कीर्तिमान स्थापित किये है तथा बोर्ड का नाम पूरे देश मे रौशन किया है। अरुणाचल सरकार द्वारा उन्हें लोक प्रशासन में उत्कृष्टता हेतु मुख्यमंत्री पुरस्कार प्रदान की जाएगी। 

यह भी पढ़े : VASTU TIPS: घर में आईना लगवाते समय उसकी दिशा का विशेष ख्याल रखें, इस दिशा में लगाने से बचें

बता दें कि साल 2020 के फरवरी के महीने में LDC की परीक्षा में बोर्ड पर धांधली का आरोप लगा था तथा उस परीक्षा को निरस्त करना पड़ा था। उसी घोटाले के बाद अरुणाचल सरकार ने ईमानदार एवं तेज तर्रार IAS अधिकारी संतोष कुमार को सचिव एवं परीक्षा नियंत्रक का संयुक्त कार्यभार सौंपा था। कार्यभार संभालते ही संतोष कुमार तब सुर्खियों में आये थे जब 24 घंटे के अंदर ही स्टाफ सेलेक्शन बोर्ड ने रिजल्ट प्रकाशित किया था। तब से लेकर आज तक बोर्ड ने अपने ही कई रिकार्ड को तोड़ा है तथा नया कीर्तिमान बनाया है।

इसके अलावे पारदर्शिता के मामले में भी अरुणाचल का स्टाफ सेलेक्शन बोर्ड देश मे नंबर वन है जहां अभ्यर्थी को किसी भी परीक्षा का उत्तर कुंजी तथा कट ऑफ मार्क, व्यक्तिगत मार्कशीट सहित उन्हें उत्तर पुस्तिका यानी OMR शीट भी प्रदान किया जाता है, साथ ही विज्ञापन से लेकर अंतिम चयन होने तक परीक्षा की पूरी प्रकिया सिर्फ 100 दिन के अंदर ही पूरी की जाती है जबकि अन्य जगहों पर परीक्षा की पूरी प्रक्रिया पूरी होने में 4-5 साल तक का समय भी लग जाता है।

यह भी पढ़े : Diamond Crossing: भारत का अनोखा रेलवे ट्रैक, यहां चारों दिशाओं से आती है ट्रेनें फिर भी आज तक नहीं हुई कोई टक्कर

स्टाफ सेलेक्शन बोर्ड के इसी रिकॉर्ड को देखते हुए अरुणाचल सरकार ने स्टाफ सेलेक्शन बोर्ड को इस साल लोक प्रशासन में उत्कृष्टता हेतु मुख्यमंत्री पुरस्कार देने की घोषणा की है। यह समस्तीपुर ही नहीं बल्कि पूरे बिहार के लिए गर्व की बात है कि यहां के IAS अधिकारी संतोष कुमार के नेतृत्व में अरुणाचल प्रदेश के स्टाफ सेलेक्शन बोर्ड को यह पुरस्कार प्रदान किया गया है।