अरुणाचल प्रदेश युवा कांग्रेस (APYC) ने असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। यहां पर युवा कांग्रेस के नेताओं ने नेता राहुल गांधी पर सरमा विवादास्पद 'पिता-पुत्र' वाली टिप्पणी के लिए जमकर विरोध प्रदर्शन किया। युवा कांग्रेस ने सरमा का पुतला फूंकते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से उन्हें असम के मुख्यमंत्री के पद से बर्खास्त करने की अपील की है।


1 व्यक्ति और खड़े रहना की फ़ोटो हो सकती है

APYC ने यह विरोध तब किया जब सरमा ने कांग्रेस नेता राहुल गांधी की आलोचना करते हुए कहा कि वह 2016 में पाकिस्तान में भारतीय सेना द्वारा किए गए सर्जिकल स्ट्राइक और 2019 में हवाई हमले का सबूत मांगते हैं।

13 लोग, लोग खड़े हैं और बाहर की फ़ोटो हो सकती है

सरमा ने हाल ही में उत्तराखंड में एक चुनावी रैली को संबोधित करते हुए पूछा था कि क्या बीजेपी ने कभी उनके "पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी के बेटे" होने का सबूत मांगा था। उन्हें सेना से सबूत मांगने का कोई अधिकार नहीं था। हालांकि, सरमा ने बाद में अपने बयान का बचाव करते हुए कहा था कि कांग्रेस उनकी टिप्पणी की गलत व्याख्या कर रही है।


11 लोग, लोग खड़े हैं, आग और बाहर की फ़ोटो हो सकती है

विरोध प्रदर्शन के समय पत्रकारों से बात करते हुए, APYC के अध्यक्ष तार झोनी ने कहा कि सरमा ने राहुल गांधी और उनके परिवार पर अपरिपक्व और व्यक्तिगत हमले किए हैं जिसके लिए उन्हें माफी मांगनी चाहिए।


1 व्यक्ति, फूल और पाठ की फ़ोटो हो सकती है

उन्होंने कहा, 'हम चाहते हैं कि उन्हें (सरमा) पता चले कि न केवल असम बल्कि अरुणाचल के लोग भी उनसे नाराज हैं। वह अपनी परिपक्वता खो चुके हैं और असम के मुख्यमंत्री बनने के लायक नहीं हैं, इसलिए पीएम मोदी को उन्हें जल्द से जल्द बर्खास्त कर देना चाहिए।


3 लोग की फ़ोटो हो सकती है

युवा कांग्रेस ने कहा कि वे राज्य के स्थापना दिवस समारोह में भाग लेने के लिए 20 फरवरी को ईटानगर की अपनी यात्रा के दौरान भी सरमा के खिलाफ विरोध प्रदर्शन करेंगे।