अरुणाचल प्रदेश के पासीघाट पश्चिम निर्वाचन क्षेत्र के विधायक निनॉन्ग एरिंग ने स्पष्ट किया है कि चीन की पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (PLA) अरुणाचल प्रदेश के युवाओं की भर्ती नहीं कर रही है। उन्होंने कहा कि चीन के पीएलए द्वारा अरुणाचल प्रदेश से युवाओं को भर्ती करने की कोशिश की खबरें "झूठी और निराधार" हैं।


निनॉन्ग एरिंग ने ट्वीट कर कहा कि “चीनी पीएलए द्वारा #अरुणाचल प्रदेश में कुछ मीडिया वेबसाइट द्वारा जारी युवाओं की भर्ती की रिपोर्ट झूठी और निराधार है। मैं रिपोर्ट पढ़कर स्तब्ध रह गया और इसलिए सरकार को इस तरह के नापाक #चीनी डिजाइनों के प्रति आगाह किया।”


उन्होंने कहा आगे कहा कि “अरुणाचली के युवा कट्टर देशभक्त हैं और देश के साथ मजबूती से खड़े हैं। अरुणाचल प्रदेश भारत का अभिन्न अंग है। अब यह स्पष्ट है कि पीएलए दक्षिणी तिब्बत से भर्ती कर रहा है न कि अरुणाचल प्रदेश से "। विशेष रूप से, निनॉन्ग एरिंग ने खुद इस महीने की शुरुआत में दावा किया था कि चीन अरुणाचल प्रदेश के युवाओं को पीएलए में भर्ती करने की कोशिश कर रहा है।


एरिंग ने बाया कि अब तक हमें जो जानकारी मिली है, उसके अनुसार, चीनी पीएलए तिब्बत के साथ-साथ अरुणाचल के युवाओं की भर्ती करने की कोशिश कर रहा है। यह गंभीर चिंता का विषय है और केंद्रीय रक्षा मंत्रालय और गृह को इसे गंभीरता से लेना चाहिए।