अरुणाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री पेमा खांडू ने शनिवार को विधानसभा में कहा कि सरकार ‘गुमनाम’ स्वतंत्रता सेनानियों का एक स्मारक बनाकर उन्हें उचित सम्मान देगी। खांडू ने कहा कि एक समिति बनाई जाएगी जो समुदाय आधारित संगठनों समेत सभी पक्षकारों से परामर्श के बाद एक जगह के बारे में सुझाव देगी, जहां स्मारक बनाया जा सके।

उन्होंने कहा कि इस स्मारक पर शहीदों के नाम अंकित होंगे। कांग्रेस विधायक निनोंग एरिंग द्वारा शुरू की गई चर्चा में हिस्सा लेते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि केंद्रीय समाजिक न्याय एवं जनजातीय मामलों के मंत्रालय ने एक पत्र में राज्य सरकार को निर्देश दिया है कि वह राज्य के स्वतंत्रता सेनानियों की एक सूची सौंपे। प्रदेश सरकार ने इसके बाद उपायुक्तों से नाम देने को कहा है।

 खांडू ने कहा, “अब तक पांच जिलों से प्रतिक्रियाएं मिली हैं।” उन्होंने कहा कि ब्रिटिश राज के खिलाफ राज्य के आदिवासी लोगों द्वारा कुल छह लड़ाइयां लड़ी गई हैं। उन्होंने कहा, “देश में ‘आजादी के अमृत महोत्सव’ की तर्ज पर राज्य ने अगले साल जनवरी में अपने गठन की स्वर्ण जयंती के उपलक्ष्य में एक महीने तक चलने वाले कार्यक्रम की तैयारी की है। हम उस मौके पर स्वतंत्रता सेनानियों का भी सम्मान करेंगे।”उन्होंने कहा कि स्मारक बनाने की सभी औपचारिकताएं तब तक पूरी कर ली जाएंगी।