अरुणाचल प्रदेश सरकार (Arunachal Pradesh  Government) ने कोविड -19 (COVID-19) मामलों की घटती संख्या को ध्यान में रखते हुए पर्यटक इनर लाइन परमिट (ILP) और संरक्षित क्षेत्र परमिट (PAP) पर से निलंबन हटाकर राज्य में पर्यटन (Tourism) गतिविधियों को फिर से शुरू करने का फैसला लिया है।


बंगाल ईस्टर्न फ्रंटियर रेगुलेशन एक्ट 1873 के तहत, बाहरी लोगों को अरुणाचल प्रदेश का दौरा करने और ILP के बिना रहने के लिए प्रतिबंधित किया गया है। गृह मंत्री बामांग फेलिक्स (Home Minister Bamang Felix) ने यहां संवाददाताओं से कहा कि मुख्यमंत्री पेमा खांडू (Chief Minister Pema Khandu) की अध्यक्षता में राज्य मंत्रिमंडल ने अपनी बैठक में ILP और PAP का निलंबन हटाने का फैसला किया है।


कोविड -19 (COVID-19) प्रसार के नियंत्रण और प्रबंधन के लिए राज्य सरकार द्वारा ILP और PAP को निलंबित कर दिया गया था। फेलिक्स ने कहा कि "चूंकि देश और राज्य में वर्तमान में कोविड -19 की स्थिति नियंत्रण में है, इसलिए कैबिनेट ने निलंबन को हटाने और राज्य में सभी पर्यटन गतिविधियों को कोविड के उचित व्यवहार का पालन करने की सलाह के साथ अनुमति देने का फैसला किया," ।

हालांकि, कैबिनेट (Cabinet) ने इस समय केवल पूरी तरह से टीकाकरण वाले पर्यटकों को ही अनुमति देने का फैसला किया है, जिन्होंने टीके की दोनों खुराक ली हैं। गृह मंत्री (Home Minister Bamang Felix) ने कहा कि "कैबिनेट के फैसले से टूर ऑपरेटरों, होटल व्यवसायियों, कैब ऑपरेटरों, होम स्टे और पर्यटन से जुड़े सभी हितधारकों को फायदा होगा क्योंकि वे निलंबन के कारण भारी आर्थिक कठिनाई का सामना कर रहे हैं।"