ईटानगर। अरुणाचल प्रदेश सरकार ने केंद्र से सीमावर्ती राज्य में महत्वपूर्ण रेलवे परियोजनाओं को जल्द पूरा करने का अनुरोध किया है। सोमवार को नई दिल्ली में रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव से मुलाकात करने वाले राज्य के उपमुख्यमंत्री चौना मीन ने उनसे असम के धेमाजी जिले के मुरकोंगसेलेक से राज्य के ईस्ट सियांग जिले के पासीघाट तक ब्रॉड गेज लाइन परियोजना को जल्द से जल्द शुरू करने का अनुरोध किया।

यह भी पढ़े : Akshaya Tritiya 2022: इस दिन सोना खरीदना बेहद शुभ होता है, इन 3 चीजों के दान से चमक सकती है किस्मत, जानिए शुभ मुहूर्त

यहां जारी एक आधिकारिक विज्ञप्ति में कहा गया है कि मीन ने रेल मंत्री को अवगत कराया कि मुरकोंगसेलेक से पासीघाट रेलवे लाइन के लिए भूमि अधिग्रहण का समाधान जल्द ही किया जाएगा। परियोजना को जल्द शुरू करने का दबाव डालते हुए मीन ने कहा कि पासीघाट-तेजू-रूपाई की रणनीतिक 217 किलोमीटर लंबी लाइन पूर्वी अरुणाचल प्रदेश में संचार नेटवर्क में क्रांति लाएगी और सीमावर्ती क्षेत्रों में रक्षा बलों की आवाजाही को भी सुविधाजनक बनाएगी।

उपमुख्यमंत्री ने वैष्णव से रुपाई से परशुराम कुंड रेलवे लाइन को साथ-साथ शुरू करने का अनुरोध करते हुए कहा कि पासीघाट-तेजू-परशुराम कुंड-रूपाई के 217 किलोमीटर में से 90 किलोमीटर का विस्तार बहुत आसान होगा, क्योंकि यह खंड मैदानी इलाके में पड़ता है। इसके अलावा, रूपाई तक रेलवे लाइन है और लोहित जिले के परशुराम कुंड में पवित्र तीर्थ स्थल पर हर साल लाखों तीर्थयात्री आते हैं।

यह भी पढ़े : Numerology Horoscope 27 April : इन तारीखों में जन्मे लोगों के लिए 27 अप्रैल को बन रहे है खास योग, मिलेगा भरपूर लाभ

मीन ने कहा, रेलवे-परियोजना एक बार पूरी हो जाने के बाद तीर्थयात्रियों की यात्रा को सुविधाजनक बनाने के अलावा पवित्र स्थान पर पर्यटकों की आमद में वृद्धि होगी। उन्होंने रेल मंत्री को आगे बताया कि रूपाई से परशुराम कुंड रेल लाइन का अंतिम स्थान सर्वेक्षण पहले ही पूरा हो चुका है। विज्ञप्ति में कहा गया है कि रेल मंत्री ने अरुणाचल प्रदेश में रेलवे परियोजनाओं के लिए अनापत्ति प्रमाण पत्र के मामले को रक्षा मंत्रालय के समक्ष व्यक्तिगत रूप से उठाने का आश्वासन दिया है।